पेगासस जासूसी मामले एवं कुछ अन्य मुद्दों पर लोकसभा में विपक्षी सदस्यों का शोर-शराबा गुरुवार को भी जारी रहा। विपक्षी दलों के सदस्यों की नारेबाजी के कारण सदन की कार्यवाही तीन बार के स्थगन के बाद दोपहर 2:25 पर दिन भर के लिए स्थगित कर दी गई।

हंगामे के बीच ही आधे घंटे तक प्रश्नकाल की कार्यवाही चली तथा सदन ने दो विधेयकों को मंजूरी भी प्रदान की। इस दौरान कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस सहित कुछ विपक्षी दलों के सदस्यों का शोर-शराबा जारी रहा। संसद में जारी गतिरोध को लेकर लोकसभा स्पीकर ने सांसदों को चेतावनी दी है।

उन्‍होंने हंगामा करने वाले सांसदों को चेतावनी देते हुए कहा हमें सदन की गरिमा बनाए रखनी होगी। बिरला ने कहा कि आसन के प्रति कल जो आचरण हुआ वह अनुचित था। सदस्य अपने आचरण और व्यवहार में मर्यादाओं का ध्यान रखें।

भविष्य में यदि स्वस्थ परंपरा टूटी तो कड़ी कार्रवाई करनी पड़ेगी। लोकसभा अध्‍यक्ष ने सवाल किया, क्या कल की घटना को न्योयचित मानते है? सामूहिक तौर पर निर्णय करना होगा तभी लोकतंत्र मजबूत रहेगा। आप, लाखों लोगों का प्रतिनिधित्व करते हैं।

लोकसभा अध्यक्ष ने बुधवार की घटना को लेकर अपनी पीड़ा भी व्यक्त की थी। सरकार को घेरने के लिए गुरुवार को कांग्रेस सांसदों द्वारा संसद भवन में बुलाई गई बैठक में दो केंद्रीय मंत्री भी अचानक से पहुंच गए।

प्रहलाद जोशी और पीयूष गोयल ने विपक्षी सांसदों से सदन चलने की मांग की, तो वहीं संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने विपक्ष के हंगामे पर नाराजगी जाहिर की।

जोशी ने कहा कि सरकार हर मुद्दे पर चर्चा करने को तैयार है। शिरोमणि अकाली दल ने किसानों के मुद्दे पर सदन के बाहर प्रदर्शन किया, हरसिमरत कौर ने कहा कि वह नौ दिनों से स्थगन प्रस्ताव दे रहे हैं, तो दूसरी तरफ कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सरकार पर विपक्ष की आवाज दबाने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार विपक्ष को देशहित का मुद्दा उठाने नहीं दे रही।

Read More

  1. बिहार विधानसभा के सदन में तेजस्वी ने उठाया विधायकों की पिटाई का मामला
  2. बसपा विधायक सतीश मिश्रा ने भाषण में की ब्राह्मण और दलित वोटों को साधने की कोशिश
  3. भ्रष्टाचार के मामले में कार्रवाई करते हुए इंस्पेक्टर और चौकी इंचार्ज किए गए निलंबित
  4. ओवैसी को सभ्य इंसान समझने की भूल करते हुए उमा भारती ने साधा निशाना
  5. किसान आंदोलन पर उत्तर प्रदेश भाजपा ने कार्टून रूपी ट्वीट कर किया पलटवार