राजनीति

क्या राज ठाकरे की राह चलना चाहते हैं अल्पेश, नीतीश मौन

हमलों का आरोप लगा है गुजरात के विधायक अल्पेश ठाकोर और उनकी ठाकोर सेना पर। इस सेना के हमलों के बाद स्थानीय मकान मालिक जहां बिहार-यूपी के लोगों से मकान खाली करा रहे हैं वहीं डर की वजह से उत्तर भारतीय लोग भी बड़ी संख्या में पलायन को मजबूर हैं।

राजनीति

बीजेपी के दो चेहरे, एक हिन्दू तो दूसरा बड़ा मुस्लिम नेता, दोनों तटस्थ, पढ़ें

एक कहावत है कि जब जहाज डूबने लगता है तो सबसे पहले चूहे जहाज को छोड़ते हैं। यह कहानी राजनीति में शत प्रतिशत सही साबित होती है। यह कहानी न सिर्फ उदय और अस्त होने की है बल्कि यह कहानी दोस्ती और दुश्मनी भुलाकर राजनीतिक लाभ-हानि के लिए पाले बदलने पर भी लागू होती है। […]

राजनीति

अमित शाह के दो बयान, दोनों खास लेकिन इन मुद्दों पर क्यों हैं चुप ?

बीजेपी अध्यक्ष देश मे कई ज्वलंत मुद्दों और बढ़ते विरोध के बावजूद पूरे जोश और उत्साह के साथ निश्चिन्त स्थिति में नजर आ रहे हैं। कम से कम उनके हालिया बयानों को देखें और सुनें तो ऐसा ही लग रहा है। इसके अलावा यह भी समझ आता है कि कहीं न कहीं यह कार्यकर्ताओं और […]

राजनीति

दलितों और सवर्णों के भारत बंद के बीच यह रहा सबसे बड़ा अंतर

एससी/एसटी एक्ट को लेकर इन दिनों भारत की राजनीति में बवाल मचा हुआ है। एक वर्ग सुप्रीम कोर्ट के फैसले को बदलवाने के लिए अड़ा हुआ था तो वहीं दूसरे वर्ग ने अब सरकार के अध्यादेश के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। अब दलितों के बाद सवर्ण समाज की बारी थी। इस वर्ग की मांग […]

राजनीति

बीजेपी से अलग हो टीडीपी ने अपनी राह मुश्किल कर ली है, पढ़ें क्यों

आंध्रप्रदेश में हाल के दिनों में राजनीतिक घटनाक्रम तेजी से बदला। इस घटनाक्रम में जहां क्षेत्रीय दल तेलगु देशम पार्टी ने बीजेपी से खुद को अलग कर लिया वहीं आंध्र से लेकर दिल्ली तक और सड़क से लेकर संसद तक सरकार को कठघरे में लाने की कोशिशों में भी लग गई। हालांकि टीडीपी का यह […]

व्यापार

नोटबंदी के एक साल, देश बेहाल, पढ़ें इसके 10 बड़े नुकसान

नोटबंदी के एक साल बाद भी आज इसके फायदे और नुकसान का आकलन जारी है लेकिन न सरकार को पता है न आरबीआई को कि इसके कितने फायदे हुए, कितने जनता को मिले, कितने अर्थव्यवस्था को हुए और कितना कालाधन कम हुआ या अंकुश लग सका

विशेष

विमुद्रीकरण के बाद….

​8 नवम्बर के बाद से नोटों के लिए मची आपाधापी अब कुछ कम होती नज़र आ रही है।ऐसे अलग अलग न्यूज़ चैंनलों के हिसाब से यह अलग अलग है लेकिन मैं जो कुछ देख और समझ पा रहा हूँ उससे यही निष्कर्ष निकल पाया की मेरे आसपास और जिस रास्ते मैं हर दिन लगभग 3 […]