राजनीति

मोदी के वह 7 बड़े फैसले जो सभी को समझ न आए लेकिन बदल गए राजनीति की तस्वीर,जान लें

2014 में भारत की सत्ता संभालने के बाद से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार ने कई बड़े फैसले लिए हैं। इन फैसलों ने न सिर्फ देश की जनता और अर्थव्यवस्था पर गहरा प्रभाव छोड़ा है बल्कि राजनीति पर भी हावी रहे हैं। यूं तो सरकारें फैसला लेती रहती है लेकिन जनता उन फैसलों को […]

Advertisements
राजनीति

10 फीसदी आरक्षण के फैसले के बाद मोदी सरकार ले सकती है कुछ और बड़े फैसले, जानें

आरक्षण पर जारी बहस और एससी-एसटी एक्ट में संशोधन कर सवालों में घिरी मोदी सरकार ने चुनावों से ठीक पहले एक मास्टरस्ट्रोक खेल दिया है। राजनीतिक गलियारों सहित मीडिया और सोशल मीडिया पर इस फैसले की चर्चा ठीक उसी तर्ज पर हो रही है जैसे नोटबन्दी के समय हुई थी। यह फैसला है आर्थिक रूप […]

राजनीति विशेष

अजब राजनीति की गजब कहानी, कांग्रेस की यह अकड़ है पुरानी

परिवारवाद का आरोप लगता आया है। घोटाले के आरोप लगे। आपातकाल कांग्रेस के ही शासनकाल में लगा, सिख विरोधी दंगे हुए। इंदिरा और राजीव ने अपनी जान गंवाई। इसके बावजूद आज अगर यह पार्टी खड़ी है और सिमटती नजर आने के बावजूद बीजेपी को टक्कर देने का दम्भ भरती नजर आ रही है तो यकीन मानिए कुछ तो खास इसमे जरूर है।

राजनीति विशेष

कांग्रेस-बीजेपी को राजनीति की धुरी नही मजबूरी कहें, पढ़ें क्यों

कांग्रेस और बीजेपी भारत के दो ऐसे राजनीतिक दल हैं जिनके इर्द गिर्द ही सत्ता का पहिया घूमता नजर आता है। यह परिदृश्य भी बहुत पुराना नही है। बहुत से बहुत दो दशक मान लें वरना सिर्फ कांग्रेस ही राजनीति की धुरी मानी जाती थी। बाद में अटल जी जैसी शख्सियत कहें या लोगों की […]

राजनीति

कारगर और लोकप्रिय हो रहा राहुल का यह फार्मूला

राहुल गांधी के बारे में कहा जाता है कि वह राजनीति के प्रति सीरियस नही रहते हैं। यही वजह है कि उनके बयान की वजह से पार्टी को क़भी-कभी असहज स्थिति का सामना करना पड़ता है। हालांकि हाल के दिनों की बात करें तो अध्यक्ष बनने के बाद से राहुल में कई बदलाव देखने को […]

राजनीति

मोदी देंगे सब को सैलरी, क्या है सच्चाई?

विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद बीजेपी अब डैमेज कंट्रोल में जुटी है। यह हार इसलिए ज्यादा दुखद है क्योंकि पिछले विधानसभा और 2014 लोकसभा में बीजेपी यहां सबसे ज्यादा सीटें जीती थी। वहीं इस बार हुए विधानसभा चुनाव में पार्टी के हाथ मायूसी लगी है। न सिर्फ राज्य सरकारें बदल गई बल्कि 2019 […]

राजनीति

इन वजहों से डूबी बीजेपी की नाव, पढ़ें

सत्ता के खिलाफ एन्टी इंकमबेंसी, मोदी की आरक्षण के खिलाफ नीति, स्वर्ण विरोधी नीति कहना ज्यादा जायज है। इसके अलावा किसानों की दुर्दशा, बेरोजगारों की आशा और युवाओं का पलायन।

विशेष

एक ऐसा राज्य जहां चुनाव आयोग से ज्यादा किसी अन्य संगठन की चलती है, सब सुनते और मानते भी हैं

चुनावों में अहम भूमिका निभाने वाले संगठन का नाम है मिजोरम पीपुल्स फोरम। यह संगठन राज्य के सबसे बड़े चर्च संगठन सीनाड का प्रतिनिधि है।