एआईएमआईएम के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ने के ऐलान के बाद पार्टी अब उत्तराखंड में भी विधानसभा चुनाव लड़ने का फैसला कर चुकी है। एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के उत्तराखंड चुनाव लड़ने के ऐलान के बाद अब राज्‍य में सियासत तेज हो गई है।

उत्‍तराखंड में भाजपा, कांग्रेस, आम आदमी पार्टी और एआईएमआईएम के चुनाव लड़ने के ऐलान के बाद यहां दिलचस्‍प मुकाबला देखने को मिल सकता है। पार्टी ने राज्य की 70 में से 22 विधानसभा सीटों पर उम्मीदवार उतारने का फैसला किया है। बता दें कि असदुद्दीन ओवैसी की अल्‍पसंख्‍यक मतदाताओं पर अच्‍छी पकड़ मानी जाती है।

राज्‍य के कई जिलों में अल्‍पसंख्‍यक मतदाताओं की अच्‍छी खासी संख्‍या है जिनमें खासकर देहरादून, उधम सिंह नगर, हरिद्वार और हल्‍द्वानी में मुस्लिम वोटर काफी संख्‍या में रहते हैं। ओवैसी की एआईएमआईएम के उत्तर प्रदेश के बाद उत्तराखंड में भी चुनाव लड़ने के फैसले से सियासी पारा बढ़ा है और चुनाव में ध्रुवीकरण की राजनीति के चरम पर पहुंचने की संभावना भी बढ़ गई है।

हालांकि एआईएमआईएम के उत्तराखंड के मैदान में उतरने से कांग्रेस को ज्‍यादा नुकसान होने की उम्‍मीद है क्‍योंकि मुस्लिमों को कांग्रेस के परंपरागत मतदाता के रूप में देखा जाता रहा है। इधर आम आदमी पार्टी भी प्रचार में जुटी है जिसके तहत अरविंद केजरीवाल समेत तमाम नेता लगातार राज्‍य के दौरे कर रहे हैं और प्रचार के रणनीति के तहत भाजपा और कांग्रेस पर हमले करने के साथ खुद को विकल्‍प बता रहे हैं।

उत्तराखंड के एआईएमआईएम अध्‍यक्ष डॉ.नय्यर काजमी की दी जानकारी के अनुसार पार्टी चीफ असदुद्दीन ओवैसी अगले कुछ दिनों में राज्‍य का दौरा करेंगे। इसके साथ उन्‍होंने भाजपा और कांग्रेस दोनों को एक ही सिक्‍के के दो पहलू के तौर पर बताया।

उन्होंने कहा कि दोनों ने राज्‍य की जनता को ठगने का काम किया है, और इस बार जनता इनके जाल में फंसने वाली नहीं है। इसके साथ काजमी ने भरोसा दिखाया कि “इस बार हम राज्‍य की 22 सीटों पर अपने उम्‍मीदवार उतारेंगे और पूरी दमदारी के साथ प्रचार करते हुए जीत हासिल करेंगे।”

Read More

  1. अक्षय कुमार की नई फिल्म का आज आ रहा है ट्रेलर
  2. जातीय जनगणना के पक्ष में नीतीश कुमार केंद्र की असहमति के बाद करेंगे राज्यस्तरीय कोशिश
  3. एआईएमआईएम से निपटने के लिए कांग्रेस और सपा ने तैयार की यह रणनीति
  4. मुंबई में शर्तों के साथ आम यात्रियों के लिए फिर से चलेंगी लोकल ट्रेनें
  5. फेसबुक पर प्रधानमंत्री मोदी और मंत्री स्मृति ईरानी के खिलाफ अपमानजनक कमेंट करना पड़ा भारी
  6. नीरज चोपड़ा की जीत के बाद राष्ट्रगान बजने से आंखें हुई नम
  7. मानसून सत्र के आखिरी हफ्ते में सरकार को घेरने के लिए फिर से हुई विपक्षी दलों की बैठक
  8. जंतर-मंतर पर भड़काऊ नारेबाजी कर रहे लोगों की हुई पहचान