राहत की खबर के बीच महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को घोषणा कर बताया कि कोविड रोधी टीके की दोनों खुराक ले चुके मुंबई निवासी 15 अगस्त से लोकल ट्रेनों में सफर कर सकते हैं।

उन्होंने कहा, “मुंबई में लोकल ट्रेनें उन लोगों के लिए 15 अगस्त से शुरू होंगी जिन्होंने वैक्सीन की दोनों डोज लगवा ली हैं।

हम एक ऐप लॉन्च करेंगे जहां लोग अपडेट कर सकते हैं कि उन्होंने दोनों खुराक ली हैं। लोग या तो ऐप से या कार्यालयों से पास ले सकते हैं.” ठाकरे ने एक लाइव वेबकास्ट में कहा कि जिन लोगों ने कोविड रोधी टीके की दूसरी खुराक के बाद 14 दिन की अवधि पूरी कर ली है वे रेलवे पास के लिए विशेष रूप से बनाए गए ऐप पर आवेदन कर सकते हैं और वे इसे अपने संबंधित स्थानीय वार्ड कार्यालयों से प्राप्त कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने बताया कि अभी तक मुंबई में 19 लाख लोगों को टीके की दोनों खुराक दी जा चुकी है। उन्होंने कहा कि जिनके पास स्मार्टफोन नहीं है, वे ये पास ऑफलाइन प्राप्त कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने राज्य के नाम एक संबोधन में कहा, “हम अभी कुछ ढील दे रहे हैं, लेकिन अगर मामले बढ़ते हैं, तो हमें फिर से लॉकडाउन का सहारा लेना होगा। इसलिए मैं आपसे अपील करता हूं कि आप कोविड की एक और लहर को आमंत्रित न करें।”

जनता और राजनीतिक पार्टियों के भारी दबाव और हाईकोर्ट की दखल के बाद महाराष्ट्र सरकार दोनों डोज ले चुके लोगों के लिए लोकल के द्वार खोल रही हैं।

वर्तमान में, आम लोगों को मुंबई उपनगरीय ट्रेनों में चढ़ने की अनुमति नहीं है। लोकल ट्रेनें केवल आवश्यक क्षेत्रों और सरकारी सेवाओं में कार्यरत लोगों के लिए संचालित की जा रही हैं।

हालांकि इस साल फरवरी में लोकल ट्रेनों में सामान्य लोगों को शर्तों के साथ यात्रा की अनुमति मिली थी। 1 फरवरी से आम लोगों को ‘नॉन-पीक आवर्स’ यानी सुबह पहली लोकल चलने से लेकर सुबह 7 बजे तक फिर दोपहर 12 बजे से शाम 4 बजे तक और फिर रात 9 बजे के बाद आखिरी लोकल चलने तक यात्रा की अनुमति दी गई थी। इस बार फिलहाल ऐसी कोई शर्त नहीं रखी गई है।

बता दें कि, पिछले साल लॉकडाउन के दौरान अतिआवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों के लिए रेलवे ने 15 जून 2020 से लोकल ट्रेनें शुरू की थी जिसमें शुरुआत में रोजाना केवल 30 हजार लोग यात्रा कर रहे थे।

नवंबर 2020 में महिला यात्रियों को समय की शर्तों के साथ यात्रा की अनुमति देने के बाद यात्रियों की संख्या करीब 9-10 लाख पहुंच गई थी। इसके बाद 29 जनवरी 2021 तक यह संख्या पहुंचकर 19 लाख हुई थी ।

1 फरवरी से सामान्य लोगों को समय की शर्तों के साथ अनुमति मिलने के बाद प्रतिदिन लगभग 36-37 लाख यात्री सफर करने लगे। एक अप्रैल 2021 को लॉकडाउन 2.0 के बाद यात्रियों की संख्या में गिरावट के बाद रोजाना करीब दस लाख लोग यात्रा करने लगे।

प्रतिबंध के बावजूद 7 जून 2021 से दोबारा यात्रियों की संख्या बढ़कर 25 लाख के करीब पहुंच गई और अब कामकाजी दिनों में रोजाना औसतन 35 लाख लोग यात्रा कर रहे हैं।

Read More

  1. अक्षय कुमार की नई फिल्म का आज आ रहा है ट्रेलर
  2. जातीय जनगणना के पक्ष में नीतीश कुमार केंद्र की असहमति के बाद करेंगे राज्यस्तरीय कोशिश
  3. एआईएमआईएम से निपटने के लिए कांग्रेस और सपा ने तैयार की यह रणनीति