मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा लोगों की फरियाद सुनने का सिलसिला दोबारा शुरू होने जा रहा है। जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम का आयोजन हर सोमवार को होगा जिसमें लोग अपनी समस्याएं लेकर पटना पहुंचेंगे।

12 जुलाई से शुरू होने जा रहे हैं इस दरबार ने पांच साल पहले 2016 में काम करना बंद कर दिया था। उसके बाद लोक शिकायत निवारण कार्यक्रम की शुरुआत की गई थी। मुख्यमंत्री सचिवालय में इसके लिए एक बिल्डिंग भी बनकर तैयार है। नीतीश कुमार ने मंगलवार को पटना में कहा कि, “लोक सेवा अधिकार कानून के बाद हो गया कि अब इसकी जरूरत नहीं है।

2016 से हो गया कि अब इसकी कोई आश्यकता नहीं है। लेकिन बाद के दिनों में कई जगहों पर लोगों ने कहा कि ये होना चाहिए।” उन्होंने आगे कहा कि “आपको मालूम है कि हमने चुनाव के बाद ऐलान कर दिया था कि जनता के दरबार में मुख्यमंत्री का कार्यक्रम फिर करेंगे। हम तो और पहले करते मगर ऐसा कोरोना का दौर चला कि जिसके चलते बाधा आई।

अब फिर इसी महीने के अगले सोमवार से हम इसे शुरू करने वाले हैं। ये सब हमने, सबकुछ देख लिया है। एक-एक चीज बता दिया है और जो तरीका पहले का था, जनता के दरबार में मुख्यमंत्री का वही तरीका अपनाया जाएगा। चूंकि कोरोना का दौर चल रहा है इसलिए जो भी आना चाहेंगे उनको आने की सुविधा वैगरह सब जिला स्तर से प्रदान होगी और ये सब नियम बनाने के लिए हमने कह दिया है।”

दरबार में आने वाले लोगों को आरटीपीसीआर द्वारा जांच करानी होगी। कोरोना जांच नेगेटिव आने के बाद ही लोग मुख्यमंत्री के दरबार में शामिल हो सकेंगे। जनता दरबार में जाने वाले लोगों को पहले आवेदन करना होगा।

आवेदन करने के बाद संबंधित व्यक्ति को आरटीपीसीआर जांच के लिए भेजा जाएगा। कोरोना को देखते हुए मोबाइल ऐप जेकेडीएमएम के माध्यम से समस्या व शिकायत दर्ज करने की व्यवस्था की गई है। जिन आवेदकों के पास मोबाइल ऐप की सुविधा नहीं है वैसे आवेदक अपने प्रखंड विकास पदाधिकारी, अनुमंडल पदाधिकार, जिला पदाधिकारी कार्यालय में जाकर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

जहां आवेदक की शिकायत को जिला, अनुमंडल, प्रखंड कार्यालय द्वारा मोबाइल ऐप में दर्ज किया जाएगा। इसके लिए आवेदक को आधार संख्या एवं मोबाइल नंबर देना होगा। मोबाइल ऐप में आवेदन दर्ज करने पर आवेदक को एक यूनिक संख्या उनके नंबर पर एसएमएस एवं ईमेल पर प्राप्त होगी। इस यूनिक संख्या के माध्यम से आवेदक अपने दर्ज किए गए आवेदन की स्थिति की जानकारी मोबाइल ऐप पर प्राप्त कर सकेंगे।

जनता दरबार में भाग लेने के लिए तिथि एवं स्थल की जानकारी आवेदक को उनके दिए गए मोबाइल नंबर पर एसएमएस एवं ईमेल पर भेजी जाएगी। जिलाधिकारी द्वारा सभी चिन्हित आवेदकों को सूचित किया जाएगा।

Read More

  1. डीआरडीओ और एआईसीटीई ने रक्षा प्रौद्योगिकी में नियमित मास्टर ऑफ टेक्नोलॉजी कार्यक्रम शुरू किया
  2. अजय भट्ट ने रक्षा राज्य मंत्री के रूप में पदभार संभाला
  3. ओवैसी द्वारा गाजी की मजार पर चादरपोशी को भाजपा ने बताया राष्ट्रद्रोह
  4. केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी ने केंद्रीय पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्री (डोनर) के रूप में कार्यभार संभाला
  5. प्रधानमंत्री ने हैती के राष्ट्रपति जोवेनेल मोईज़ की हत्या पर शोक व्यक्त किया