फिलीपींस एयरफोर्स का विमान C-130 हादसे का शिकार हो गया। विमान में करीब 92 लोग मौजूद थे जिनमें से 17 लोगों की जान चली गई और जलते हुए मलबे में से करीब 40 लोगों को बचाया गया है।

डिफेंस के सेक्रेटरी डेलफिन लोरेंजा ने बयान जारी करते हुए बताया कि C-130 हरक्यूलिस विमान सुलु जिले के जोजो आईलैंड पर उतरने की कोशिश करते हुए हादसे का शिकार हुआ। अभी तक 40 घायलों को बचाया जा सका है एवं 17 शव बरामद किए गए हैं।

लोकल मीडिया पोंडोहान टीवी ने फेसबुक के पेज पर लपटों में घिरे क्षतिग्रस्त विमान की तस्वीरें जारी की है। हादसे की जगह से घंटों तक काले धुंए को उठता देखा गया। आर्मी फोर्स के चीफ जनरल सिरिलिटो सोबेजान ने बताया कि विमान कागायन डी ओरो से सैनिकों को लेकर मीनदानाओ के दक्षिणी आईलैंड पर जा रहा था।

रास्ते में रेनवे के मिस हो जाने के कारण विमान ने जोजो आईलैंड पर उतरने की कोशिश की थी। उन्होंने आगे बताया कि घायलों का इलाज 11th इन्फैंट्री डिवीजन हॉस्पिटल में चल रहा है। कई सैनिक हाल ही में बेसिक मिलिट्री ट्रेनिंग से पास होकर जॉइंट टास्क फोर्स के तहत मुस्लिम बहुसंख्यक इलाके में अबु सय्याफ आतंकवादियों के खिलाफ लड़ने के लिए आईलैंड पर तैनात होने जा रहे थे।

दक्षिणी फिलीपींस में आतंकवादियों की संख्या अधिक होने के कारण भारी मात्रा में सेना की तैनाती रहती है। एयर फोर्स का विमान C-130 सैनिकों और सामानों की सप्लाई और रिलीफ कार्यों के लिए इस्तेमाल किया जाता था। एयर फोर्स के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल मायर्नाद मारियानो ने कहा कि हादसे के कारणों की जांच की जाएगी।