बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार के इस्तीफा देने के बाद से प्रदेश में सियासी हलचल  तेज़ हो गई है. 15 तारीख को NDA के चुने हुए सभी विधयकों की बैठक है जिसमें बिहार के मुख्यमंत्री का चुनाव किया जायेगा. हालाँकि मुख्यमंत्री के नाम पर NDA में पहले ही नीतीश कुमार के नाम पर सहमति बानी हुई है मगर उप-मुख्यमंत्री को लेकर चर्चाएं ज़ोरों पर है.

दिल्ली में सुशील मोदी रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात करेंगेसे मुलाक़ात करेंगे जिसके बाद आगे की रणनीति तय की जायेगी.

15 तारीख की बैठक से पहले बीजेपी की सेंट्रल कमेटी ने बिहार के उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी को दिल्ली तालाब किया है. इस बात के कई मायने निकाले जा रहे है. एक तरफ चर्चा है की बिहार में बीजेपी की तरफ से भेजे गए  कामेश्वर चौपाल बिहार के अगले मुख्यमंत्री होंगे वहीँ दूसरी चर्चा है की बिहार में इस बार दो मुख्यमंत्री होंगे. इसी की चर्चा के लिए सुशील मोदी को दिल्ली तालाब किया गया है.

बिहार चुनाव में इस बार बीजेपी को भारी बहुमत मिला है जिससे ये कयास लगाए जा रहे है की इस बार बिहार कैबिनेट में बीजेपी ज्यादा और महत्वपूर्ण मंत्री पद मांग कर सकती है.

बीजेपी ने दो उप-मुख्यमंत्रियों का फार्मूला इससे पहले उत्तर प्रदेश में भी अपनाया है जो सफल कार्य करता हुआ प्रतीत हो रहा है. इसी मोडल को बीजेपी बिहार अपनाना चाहती है.

बिहार चुनाव: हार पर अपनी ही पार्टी पर बरसे कांग्रेसी नेता तारिक अनवर

बिहार चुनाव: नितीश कुमार नहीं बनना चाहते बिहार के मुख्यमंत्री! जाने पूरा मामला