जाति आधारित जनगणना की मांग को लेकर बिहार राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव को मिलाकर 10 दलों के 11 सदस्यों ने प्रधानमंत्री से मुलाकात की थी।

बिहार के प्रतिनिधिमंडल के इस मुलाकात के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बेटे तेजस्वी यादव से राजद नेता लालू यादव के स्वास्थ्य के बारे में पूछा। सूत्रों का कहना है कि प्रतिनिधिमंडल हैरान था कि प्रधानमंत्री ने बैठक के एजेंडे और नीतीश कुमार के प्रेजेंटेशन से पहले तेजस्वी से उनके पिता के बारे में कई सवाल पूछे।

राजद प्रमुख 73 वर्षीय लालू यादव सांस की समस्या के कारण अस्पताल में एडमिट होते रहे हैं। उन्हें किडनी और हृदय संबंधी समस्याओं सहित अन्य बीमारियां भी हैं। प्रमुख को जनवरी में दिल्ली के एम्स अस्पताल में तब भर्ती कराया गया था, जब वे भ्रष्टाचार के मामले में जेल में सजा काट रहे थे। इस मामले में उन्हें अप्रैल में जमानत पर रिहा किया गया था।

लालू ने अपनी अधिकांश सजा झारखंड के रांची की जेल अस्पताल में बिताई।

प्रधानमंत्री ने पूछा कि  “लालू जी कैसे हैं?” उनकी तबियत कैसी है? साथ ही यह भी बताया कि “मैंने भी डाक्टरों से उनके बारे में हाल-चाल लिया था।” बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष ने पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद के हाल और स्वास्थ्य समस्याओं के बारे में मोदी को बताया।  प्रधानमंत्री ने उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की।

जातिगत जनगणना के बारे में नीतीश कुमार का कहना है कि प्रधानमंत्री ने उनकी बातों को सुना और विचार करने का आश्वासन दिया।

Read More

  1. अब व्हाट्सएप से बुक करें कोरोना वैक्सीन के लिए स्लॉट, जानें कैसे
  2. अफगानिस्तान से हाईजैक हुआ यूक्रेन का विमान
  3. अफगानिस्तान मुद्दे को लेकर पीएम मोदी ने की रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से बातचीत, जानें ब्यौरा