धर्म और धर्म के नाम पर राजनीति कई बार जनता के सिर पर किस प्रकार सवार हो जाती है इसका उदाहरण तब देखने को मिला जब एक ब्राह्मण जाति के वोटर ने यह दलील पेश किए कि भले ही उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने कोई उत्कृष्ट काम ना किया हो लेकिन वोट वह फिर भी उन्हें ही देंगे।

पिछले विधानसभा चुनाव में भाजपा की जीत में ब्राह्मण मतदाताओं की अहम भूमिका रही थी, लेकिन हाल के दिनों में ऐसी आशंका जतायी जा रही है कि ब्राह्मण मतदाता भाजपा से नाराज नजर आ रहे हैं। सवाल पूछे जाने के दौरान उस मतदाता ने कहा कि “महंगाई से परेशान हूं…पर वोट तो हम मोदी-योगी को ही देंगे,और कोई चारा नहीं है मेरे पास।

हजार कमी हैं लेकिन योगी जी हमारे राज्य के एक तरह से पिता ही हैं। भूखमरी हो जाए, बेरोजगारी हो जाए, मजदूरों को मजदूरी नहीं मिले हम वोट तो मोदी-योगी को ही देंगे। ऐसा नहीं है कि हम दुखी, परेशान नहीं हैं, 12 घंटे काम करने के बाद हम 7 हजार रुपये ही महीने में कमा रहे हैं। गलती योगी जी कर रहे हैं लेकिन हम वोट क्यों न दें?”

जब आगे पूछा गया कि आने वाले चुनाव के लिए क्या मुद्दे हैं तो वोटर का जवाब आया कि “जनता ने मोदी जी और योगी जी को भगवान समझ कर बैठाया था लेकिन ये जनता के विश्वास पर खड़े नहीं उतर रहे हैं। लेकिन फिर भी वोट हम इन्हें ही देंगे। मोदी जी ने ऐसे काम किए हैं जिस कारण उन्हें वोट देंगे।

उन्होंने 370 हटा दी, अयोध्या में मंदिर बनवा दी, हम वोट दें देंगे इन्हें। हमने अमरनाथ यात्रा पर ही वादा किया था कि मोदी जी की अगर सरकार रहेगी तब ही मैं फिर से वापस यहां आऊंगा नहीं तो नहीं आऊंगा।”

आगे जब पूछा गया कि 370 रद्द करने और राम मंदिर के अलावा कोई काम जो सरकार ने किया हो तो ? तब भी वोटर का यही जवाब आया की “मेरी नजर में तो कोई और काम नहीं है जो सरकार ने किया है।” लेकिन अंत-अंत तक वो इस बात को लेकर डटे रहें कि वोट तो मोदी-योगी को ही देंगे।

Read More

  1. उत्तरप्रदेश- अब अल्पसंख्यकों को लुभाने में जुटी भाजपा
  2. एनएचएआई के परियोजना निदेशक को थप्पड़ मारने संबंधी बयान सपा विधायक पर पड़ा भारी
  3. डीएसपी के मैसेज से पुलिस महकमे में मचा हड़कंप, जानें किस राज्य में हुआ बवाल