भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी को राष्ट्रीय कैडेट कोर की समीक्षा के लिए रक्षा मंत्रालय के इशारे पर गठित 15 सदस्यीय पैनल के एक हिस्से के रूप में नामित किया गया है। धोनी के साथ उद्योगपति आनंद महिंद्रा का भी नाम पैनल में नामित किया गया है।

इस पैनल की अध्‍यक्षता पूर्व व्‍यवस्‍थापक बैजयंत पांडा करेंगे। इसमें राज्‍यसभा सदस्‍य विनय सहस्रबुद्धे, राज्‍यवर्धन सिंह राठौड़, वित्‍त मंत्रालय के आर्थिक सलाहकार संजीव सान्‍याल, और जामिया मिलिया इस्‍लामिया की कुलपति नजमा अख्‍तर जैसे दिग्‍गजों के नाम भी शामिल हैं। ज्ञात हो कि महेंद्र सिंह धोनी भारतीय आर्मी में लेफ्टिनेंट हैं।

इसे लेकर रक्षा मंत्रालय ने कहा कि 15 सदस्यीय समिति राष्ट्र निर्माण में योगदान करने और विभिन्न क्षेत्रों के विकास में मदद करने के लिए एनसीसी कैडरों को सशक्त बनाने के उपाय सुझाने के लिए बनाई गई है।

रक्षा मंत्रालय ने कहा, “समिति के विचारार्थ विषय, अन्य बातों के साथ-साथ, मोटे तौर पर ऐसे उपाय सुझाते हैं जो एनसीसी कैडेटों को विभिन्न क्षेत्रों में राष्ट्र निर्माण और राष्ट्रीय विकासात्मक प्रयासों में अधिक प्रभावी ढंग से योगदान करने के लिए सशक्त बना सकते हैं।”

इस कमेटी के अन्य सदस्यों में एसएनडीटी महिला विश्वविद्यालय की पूर्व कुलपति वसुधा कामत, भारतीय शिक्षण मंडल के राष्ट्रीय आयोजन सचिव मुकुल कानिटकर, मेजर जनरल (सेवानिवृत्त) आलोक राज, एसआईएस इंडिया लिमिटेड के प्रबंध निदेशक ऋतुराज सिन्हा और डाटाबुक के सीईओ आनंद शाह के नाम शामिल हैं।

कमेटी का गठन राष्ट्रीय कैडेट कोर(एनसीसी) को पहले से और अधिक प्रासंगिक बनाने के लिए उसकी व्यापक समीक्षा के लिए किया गया है।

Read More:

  1. बिहार- एम्बुलेंस में मिली शराब, विपक्ष हमलावर