राष्ट्रीय जनता दल(राजद) के छात्र नेता आकाश यादव शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री लोक जनशक्ति पार्टी(लोजपा) के पशुपति कुमार पारस वाले गुट में शामिल हो गए। उन्हें लोजपा की राष्ट्रीय युवा इकाई का प्रमुख बनाया गया है।

इसके बाद आकाश यादव ने राजद के तेजस्वी यादव और प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह पर कई गंभीर आरोप लगाए। लोजपा में शामिल होते ही आकाश ने विधानसभा चुनाव से लेकर राजद में चल रहे ‘पोस्टर वार’ के बारे में खुलासा किया।

आकाश यहां पारस की मौजूदगी में लोजपा में शामिल हुए और उन्होंने राजद नेतृत्व पर अपमानित करने का आरोप लगाया। राजद प्रमुख लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेजप्रताप के करीबी माने जाने वाले आकाश ने ऐसे पोस्टर लगाने पर, जिनमें लालू के छोटे बेटे और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की तस्वीर नहीं थी, पद से हटा देने की बात कही।

उन्होंने कहा, “तेजस्वी यादव ने विधानसभा चुनाव के दौरान ही मुझे टारगेट कर लिया था जब मैंने लालू प्रसाद यादव और राबड़ी देवी की तस्वीर हटाने का विरोध किया था। लेकिन, तेजप्रताप से व्यक्तिगत संबंध के कारण मैं राजद में बना रहा।” राजद की बिहार इकाई के प्रमुख जगदानंद सिंह द्वारा आकाश यादव को हटाने पर तेजप्रताप की नाराजगी खुलकर सामने आई थी और उन्होंने सिंह को ‘हिटलर’ बताया था।

तेजप्रताप ने इस मामले पर कड़ी टिप्पणी की थी लेकिन तेजस्वी इस पर चुप्पी साधे रहे थे। आकाश ने पार्टी के भीतर चल रहे वर्चस्व की लड़ाई पर भी बड़ा हमला बोलते हुए कहा, “8 साल पहले जिस राजद की सदस्यता ली थी, वो गरीबों की पार्टी थी।

जय प्रकाश, लोहिया की विचारधारा पर चलने वाली पार्टी थी। अब राजद वो राजद नहीं रही जहां गरीबों की सुनी जाती थी। ये दल अब अलाउद्दीन खिलजी के सिद्धांत पर चलने लगी है, जहां सत्ता और वर्चस्व के लिए किसी की भी बलि चढ़ाई जा सकती है।”

आकाश ने आगे कहा, “पार्टी में तेजस्वी यादव और जगदानंद सिंह के आतंक से सभी परेशान और प्रताड़ित हैं। तेजस्वी यादव को अब गरीबों और किसानों के पसीने से बदबू आने लगी है। उनको लगता है कि वो लालू यादव के नाम पर मुख्यमंत्री बन जाएंगे, पर उनके इरादों को बिहार की जनता समझ चुकी है।”

इधर पारस ने आकाश यादव की मौजूदगी से पार्टी मजबूत होने की बात कही। लोजपा सांसद प्रिंस राज ने भी छात्र नेता का स्वागत किया। राजद आकाश को एक विवाद के बाद पद से हटा दिया गया था और बता दें कि बिहार के छात्र राजद की युवा इकाई के प्रमुख के पद से आकाश यादव को प्रदेश अध्‍यक्ष जगदानंद सिंह ने हटा दिया था जिससे तेजप्रताप यादव बेहद नाराज हो गए थे।

उनकी जगह गगन कुमार को यह कमान सौंपी गई। हालांकि जगदानंद सिंह का कहना था कि उन्‍हेांने किसी को हटाया नहीं क्योंकि उस पद पर किसी के ना होने से वह खाली था।

Read More

  1. दिल्ली सरकार की योजना ‘देश के मेंटर्स’ के ब्रांड एम्बेसडर बने सोनू सूद, सीएम केजरीवाल ने दी जानकारी
  2. कोरोना का रौद्र रूप- मुंबई के एक स्कूल में 22 बच्चे हुए संक्रमित
  3. यूपी पुलिस ने रिटायर्ड आईएएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर को किया गिरफ्तार, जानें मामला
  4. काबुल ब्लास्ट के बाद अमेरिका ने लिया बदला, मार गिराए कई आतंकी
  5. लखनऊ स्थित सैनिक स्कूल के हीरक जयंती समारोह में शामिल हुए राष्ट्रपति