दिल्ली में स्वतंत्रता दिवस से पहले ट्रैफिक पर असर देखने को मिला है। फुल ड्रेस रिहर्सल के कारण नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे पर भयंकर जाम लगा रहा जिसके कारण लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा।

ट्रैफिक पुलिस के जवान जाम को खुलवाने के प्रयास में लगे रहे। स्वतंत्रता दिवस को देखते हुए गुरुवार रात 10 बजे से शुक्रवार दोपहर 12 बजे तक दिल्ली की सीमाओं में भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है और उन्हें ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे से होकर जाना होगा।

लाल किले के आसपास का यातायात, जहां से प्रधानमंत्री स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्र को संबोधित करेंगे, सुबह चार से दस बजे तक सामान्य यातायात के लिए बंद रहेगा और केवल अधिकृत वाहनों को प्रवेश की इजाजत होगी।

दिल्ली पुलिस द्वारा जारी किए गए यातायात परामर्श के अनुसार पूर्व-पश्चिम कॉरिडोर के लिए यात्रियों को डीएनडी-एनएच24-विकास मार्ग, विकास मार्ग-डीडीयू मार्ग और बुलेवार्ड रोड-बर्फ खाना से वैकल्पिक मार्गों से यात्रा करने की सलाह दी गई है।

निजामुद्दीन पुल और वजीराबाद पुल के बीच 12 अगस्त की मध्यरात्रि 12 बजे से 13 अगस्त की सुबह 11 बजे तक मालवाहक वाहनों को अनुमति नहीं है। इसी तरह की पाबंदी 14 अगस्त की मध्यरात्रि 12 बजे से 15 अगस्त की सुबह 11 बजे तक स्वतंत्रता दिवस के लिए लागू रहेगी।

यातायात पुलिस के अनुसार, 12 अगस्त की मध्यरात्रि रात 12 बजे से 13 अगस्त को सुबह 11 बजे तक महाराणा प्रताप आईएसबीटी और सराय काले खां आईएसबीटी के बीच अंतरराज्यीय बसों की अनुमति नहीं होगी। स्वतंत्रता दिवस को लेकर पुलिस ने अभियान तेज कर दिए हैं।

अपर आयुक्त (कानून और व्यवस्था) लव कुमार ने बताया कि स्वतंत्रता दिवस को लेकर जिले के सभी थाना क्षेत्रों में विशेष सतर्कता बरतने और गश्त बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं।

कमांडो दस्ते के मेट्रो स्टेशनों, टैम्पो स्टैंड, होटल, रेस्टोरेंट पर विशेष चेकिंग अभियान चलाए जा रहे हैं, होटलों में रुकने वालों का सत्यापन भी किया जा रहा है और दिल्ली बॉर्डर पर पुलिस का पहरा भी बढ़ा दिया गया है और वहां आने-जाने वालों की सघन जांच की जा रही है।

स्वतंत्रता दिवस पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों को लेकर पुलिस सतर्क है और कोविड के प्रोटोकॉल के साथ ही कार्यक्रम किए जा सकेंगे।

एडवाइजरी जारी कर बताया गया है कि-  गया है कि-

चिल्ला बॉर्डर से दिल्ली में प्रवेश करने वाले मालवाहक वाहन चिल्ला रेड लाइट से यू-टर्न लेकर नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे से ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे से जाएंगे।

कालिंदी कुंज यमुना बॉर्डर से दिल्ली में प्रवेश करने वाले भारी वाहन यमुना नदी से पहले अंडरपास तिराहे से डायवर्ट होंगे, जो नोएडा-ग्रेटर नोएडा से ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे से जाएंगे।

हालांकि अब यह जाम खुल गया है। 15 अगस्त की वजह से सुरक्षा-व्यवस्था पूरी तरह से चाक-चौबंद होने पर हर एक वाहन की पुलिस पूरी सावधानी से चेकिंग कर रही थी, वहीं दूसरी तरफ नोएडा-एक्सप्रेस वे पर रोड री-सरफेसिंग का काम चल रहा है इसलिए ट्रैफिक जाम की ये भी एक बड़ी वजह बताई गई।

Read More

  1. दिल्ली को मिली हाईटेक इलेक्ट्रिक फीडर बसों की सौगात
  2. राज्यसभा में हंगामा मामले पर बोले पीयूष गोयल, हो सख्त कार्रवाई