कोरोना काल के बीच 19 जुलाई से शुरू हुआ संसद का मानसून सत्र बुधवार को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया। मानसून सत्र के लिए 19 जुलाई से 13 अगस्त तक की तारीख तय की गई थी, लेकिन हंगामे के कारण दो दिन पहले ही सत्र को समाप्त कर दिया गया।

दिन की शुरुआत में पहले लोकसभा और फिर बाद में राज्यसभा की कार्यवाही को भी अनिश्चितकाल के लिए स्थगित किया गया। गौरतलब है कि पूरा मानसून सत्र पेगासस जासूसी मामले और कृषि कानूनों को लेकर हंगामेदार रहा।

हालांकि इस बीच कई विधेयक भी पारित किए गए लेकिन ऐसे कई बिल और विधेयक बिना या थोड़ी चर्चा के बिना ही पास हुए। संसद के दोनों सदनों, राज्यसभा और लोकसभा में बुधवार को भी विपक्ष लगातार केंद्र सरकार से पेगासस मामले पर चर्चा की मांग करता रहा।

कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित होने के बाद राज्यसभा में नेता सदन पीयूष गोयल ने विपक्षी सांसदों के प्रति अपनी नाराजगी दिखाई। उन्होंने संसद में हंगामा करने वाले सांसदों पर के खिलाफ कठोर एक्शन की मांग की। पीयूष गोयल ने कहा कि विपक्ष के सांसदों ने सदन के अंदर जिस तरह का आचरण किया है, वैसा पहले शायद ही कभी देखा गया हो।

गोयल ने विपक्ष के सांसदों की मार्शल के साथ हाथापाई, दरवाजे का कांच तोड़ने और सदन के अंदर टेबल पर खड़े होकर फाइल लहराने जैसी कई घटनाओं का जिक्र करते हुए आरोप लगाया गया कि विपक्ष ने चेयरमैन और संसद का अपमान किया है।

राज्यसभा में बोलते हुए पीयूष गोयल ने कहा कि विपक्ष पहले दिन से ही सोच कर बैठा था कि सदन को नहीं चलने दिया जाएगा, इसलिए बार-बार कार्यवाही को बाधित किया गया।

विपक्षी सांसदों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए उन्होंने कहा “हम मांग करते हैं कि विपक्षी सदस्यों द्वारा घोर अनुशासनहीनता की घटनाओं की समीक्षा के लिए एक विशेष समिति का गठन किया जाए और कड़ी कार्रवाई की जाए।

इस सदन में विपक्ष के नेता ने हमारे मंत्री के हाथ से पेपर छीनकर फेंका, लगातार चेयर का अपमान किया गया और विपक्ष को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए।”

बता दें कि मानसून सत्र के बीच विपक्ष लगातार मांग करता रहा कि पहले सरकार पेगासस जासूसी मामले पर चर्चा के लिए तैयार हो उसके बाद ही संसद में गतिरोध खत्म होगा।

Read More

  1. अक्षय कुमार की नई फिल्म का आज आ रहा है ट्रेलर
  2. जातीय जनगणना के पक्ष में नीतीश कुमार केंद्र की असहमति के बाद करेंगे राज्यस्तरीय कोशिश
  3. एआईएमआईएम से निपटने के लिए कांग्रेस और सपा ने तैयार की यह रणनीति
  4. हिमाचल प्रदेश के किन्नौर में बड़ा हादसा, दर्जनों की मौत
  5. जानें क्या है नक्सलियों से जुड़ा लोन मर्राटु अभियान?
  6. लालू ने जातीय जनगणना को लेकर कह दी बड़ी बात, जानें
  7. देशद्रोह केस मामले में कंगना को नही मिली राहत, सुनवाई टली
  8. बेंगलुरु में दिखा कोरोना का नया ट्रेंड, चपेट में आ रहे बच्चे
  9. मणिपुर- मुख्यमंत्री के दौरे के दौरान बच्चों की मजेदार रिपोर्टिंग का वीडियो हुआ वायरल
  10. दिल्ली को मिली हाईटेक इलेक्ट्रिक फीडर बसों की सौगात