बिहार में विधानसभा चुनावों को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। कल दूसरे चरण के लिए मतदान होना है। इससे पहले भी लगातार सोशल मीडिया और मेन स्ट्रीम मीडिया के द्वारा नेता और दल एक दूसरे पर निशाना साधते नजर आ रहे हैं। इसी क्रम में बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने एक निजी समाचार चैनल से बात करते हुए न सिर्फ अपनी उपलब्धियां गिनाईं बल्कि यह भी कहा कि कौन उनके बारे में क्या कहता है वह नोटिस नही करते हैं।

सीएम ने विपक्ष के 10 लाख नौकरियां देने के वादे पसर कहा कि यह जनता को गुमराह करने के लिए है। हमने कहीं पद खाली ही नही छोड़े तो नौकरी देंगे कहाँ से? सीएम ने यह भी कहा कि जिनके शासनकाल में सरकारी कर्मियों को तनख्वाह तक नही मिली वो नौकरी कहाँ से देंगे। सीएम ने अपनी उपलब्धि बताते हुए आगे कहा कि जो लोग 15 साल में सिर्फ 95 हजार लोगों को नौकरी दे सके वह 10 लाख को रोजगार कैसे देंगे?

सीएम ने नौकरी देने के मामले में अपनी उपलब्धि गिनाते हुए कहा कि हमने 6 लाख से अधिक लोगों को नौकरी दी है। 60-70 हजार लोगों को नौकरी देने की प्रक्रिया चल रही हैं। इसके अलावा सीएम ने पूछा यहां रोजगार कहाँ था? कितने व्यापारी भाग गए? उद्योग बंद हो गए?

सीएम ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा इन लोगों को क, ख, ग, घ का ज्ञान भी नही है। इनसे स्वयं सहायता समूह तक नही बना। हमने विश्व बैंक से पैसा लेकर जीविका समूह बनाया। सीएम ने कहा कि इनके सलाहकार इन्हें गुमराह कर रहे हैं। शराबबंदी के बाबत बोलते हुए सीएम जे कहा कि महिलाएं हमारे फैसले से खुश हैं लेकिन कुछ लोग जिनका धंधा था वह हमसे नाराज हैं। हालांकि हमने इसकी चिंता कभी नही की।

इसके अलावा सीएम ने जल जीवन हरियाली, कोरोना महामारी और बाढ़ को लेकर भी अपनी उपलब्धियां गिनाईं। कितनी सीटें आएंगी इस बाबत पूछे जाने पर सीएम ने कहा कि जनता मालिक है वह तय करेगी।

शराबबंदी कर दो नंबर से शराब बेचने का कारोबार नीतीश जी कर रहे- चिराग पासवान

पीएम मोदी की घोटाले गिनाते हुए वीडियो जारी कर बोले तेजस्वी- नीतीश शासन में 30 हजार करोड़ के 60 घोटाले हुए,देखें

मुंगेर मामले पर राजनीति शुरू, संजय राउत, चिराग, कांग्रेस ने की नीतीश-मोदी को हटाने की मांग