कोरोना के चलते ब्रिटेन में फिर लगा लॉकडाउन, मरीजों की संख्या पहुंची 10 लाख के पार

कोरोना महामारी ने ब्रिटेन में फिर से अपने पैर पसार लिए है. कोरोना की दूसरी लहर के चलते वहाँ 10 लाख से ज्यादा मामले हो गए है. इसी के चलते ब्रिटेन की सरकार ने वहाँ पर 5 नवंबर से फिर से लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है. यह लॉकडाउन 4 हफ्तों का यानि 1 महीने तक लागू होगा.

10 डाउनिंग स्ट्रीट पर एक प्रेस कांफ्रेंस को सम्भोदित करते हुए ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा “अब लॉकडाउन को छोड़कर हमारे पास और कोई विकल्प नहीं बचा है. हम पहले भी बहुत देर कर चुके है. अगर लोगों की जान बचानी है तो लॉकडाउन का सख्ती से पालन करना ही पड़ेगा.”

आगे बात करते हुए जॉनसन ने कहा “जबतक ज़रूरी न हो घर से बाहर मत निकालिये. ज़रूरत का सारा सामान अपने साथ रखिये. अपने परिवार वालों के साथ समय बिताये.” हालांकि इस बार के लॉकडाउन में पहले के मुकाबले रियायते मिलने के आसार नज़र आ रहे है.

इस लॉकडाउन में सरकार ने सभी रेस्टुरेंट, पब-बार, सिनेमाहाल, जिम, सुपरमार्केट को बंद रखने का ऐलान किया है मगर साथ ही Takeaways को खुला रखने की छूठ भी दी है. इस लॉकडाउन में सरकार ने स्कूल,कॉलेज और पढ़ाई के सभी इंस्टीटूशन्स को खुले रखने की आज़ादी दी है. यही नहीं, लॉकडाउन के ऐलान के साथ सरकार ने साफ़ किया है कि इंग्लिश प्रीमियर लीग फुटबॉल मैच एक महीने के राष्ट्रीय लॉकडाउन के दौरान जारी रहेंगे.

आपको बतादें की इस लॉकडाउन की शर्तों को प्रधानमंत्री सोमवार को संसद के पटल पर रखेंगे जिसपर बहस होनी बाकी है जिसके बाद संसद से पारित होते ही इन्हे लागू कर दिया जायेगा.

ब्रिटेन आधिकारिक रूप से मंदी की चपेट में, लॉकडाउन से हालात बिगड़े

भारत प्रति मिलियन कम से कम मामलों और प्रति मिलियन कम से कम मौतोंऔर उच्च परीक्षण वाले देशों में लगातार शामिल है

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments