मध्यप्रदेश में 28 सीटों पर होने वाले उपचुनावों के प्रचार का शोर आज शाम थम गया। प्रचार के दौरान कांग्रेस बीजेपी  खूब जुबानी जंग देखने को मिली। इसी क्रम में प्रचार के अंतिम दिन एमपी के पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा कि अगर कांग्रेस की सरकार बनी तो संविदा कर्मचारियों को नियमित किया जायेगा। कमलनाथ के इस बयान पर बीजेपी ने भी पलटवार किया है।

कमलनाथ ने अपने एक ट्वीट में कहा,’कांग्रेस सरकार बनने पर संविदा कर्मचारियों व रोजगार सहायको को नियमित करते हुए, इनका मानदेय एवं सुविधाएं नियमित कर्मचारियों की तरह ही करेंगे।’

संविदा कर्मचारियों को बहाल करने के प्रति अपनी वचनबद्धता दर्शाते हुए कमलनाथ ने लिखा,’भाजपा सरकार के कार्यकाल में  नौकरी से बाहर किए गए संविदा कर्मचारियों को कांग्रेस सरकार के दौरान प्रारंभ की गई निष्कासित वापसी प्रक्रिया को जल्द पूरा करते हुए निष्कासित संविदा कर्मचारियों को पुनः नौकरी में बहाल किया जाएगा।

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के ट्वीट पर BJP अध्यक्ष ने कहा,’ये फिर जनता को प्रलोभन देकर छलने का प्रयास है। आप अपने पुराने वचन पत्र को पूरा नहीं कर पाए थे। जिस प्रकार आपने पहले धोखा किया था फिर आप जनता के साथ धोखा करना चाहते हैं। 15 महीने कमलनाथ ने दिग्विजय के इशारे पर म.प्र. का बंटाधार किया था।’