राहुल गांधी ने एक बार फिर महंगे राफेल विमानों की खरीद का मुद्दा उठाया है। इस बार राहुल गांधी ने एक खबर का हवाला देते हुए ट्वीट किया कि राफेल डील में भारतीय खजाने से पैसे चोरी कर लिए गए। राफेल डील के बाद से लेकर आजतक लगातार वह इसपर सवाल उठाते रहे हैं। राहुल गांधी ने लगातार कहा है कि इस डील में बड़ा घोटाला हुआ है हालांकि 2019 के चुनावों में इसे मुख्य मुद्दा बना कर भी राहुल और कांग्रेस को कुछ खास हासिल नही हुआ था।


राहुल ने अपने एक और ट्वीट में महात्मा गांधी के एक कथन का हवाला देते हुए लिखा कि सत्य एक है, रास्ते अनेक हैं। दरअसल इस बार मोदी सरकार को राफेल मामले पर घेरने के लिए राहुल गांधी ने उन रिपोर्ट्स के सहारा लिया है जिनमे कहा गया है कि कैग ने रक्षा ‘ऑफसेट’ अनुबंधों की रिपोर्ट सरकार को सौंप दी है और इस रिपोर्ट में राफेल की खरीद के संदर्भ में किसी ‘ऑफसेट’ अनुबंध का जिक्र तक नही है।


राहुल के इस ट्वीट के बाद बीजेपी ने भी उनपर तीखा हमला बोला है। बीजेपी की तरफ से राहुल गांधी को जवाब देते हुए रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि राहुल गांधी के कई सहयोगी निजी तौर पर यह बताते हैं कि अपने पिता के पापों को धोने के लिए राफेल को लेकर राहुल जी को सनक है। इससे पार्टी को नुकसान हो रहा है। परंतु अगर कोई अपने ही विध्वंश का इंतजार कर रहा है तो शिकायत करने वाले हम कौन होते हैं? गोयल ने राहुल को यह चुनौती भी दी कि 2024 का चुनाव राफेल के मुद्दे पर लड़ने के लिए हम राहुल गांधी को आमंत्रित भी करते हैं।