मुंगेर में आज फिर से पथराव और आगजनी की घटनाएं सामने आयी है. बीते 27 तारीख को  मूर्ति विसर्जन के लिए निकाले जा रहे जुलुस में पुलिस की गोली से मारे गए अनुराग को इन्साफ दिलाने के लिए भीड़ सड़कों पर उत्तरी थी. उसी दौरान यह घटनाएं हुईं.

अनुराग की मौत के बाद लोगों में गुस्सा लगातार बढ़ता जा रहा है. इसी के चलते आज भीड़ उग्र प्रदर्शन करते हुए मुंगेर एसपी के ऑफिस पहुंची. इस दौरान भीड़ ने पुलिस की गाड़ियों पर पथराव किया और पुलिस की कई गाड़ियों में आग भी लगा दी.

यही नहीं, मुंगेर पोस्ट ऑफिस के बाहर ही भीड़ ने काफी तोड़-फोड़ की.

आपको बतादें की मुंगेर में पहले चरण में चुनाव होना था मगर चुनाव से एक रात पहले मूर्ति विसर्जन निकल रहा था. जब वह दीनदयाल चौक पहुंचा तो सुरक्षा की दृष्टि से प्रशासन ने जुलुस को जल्दी निकलवाने की कोशिश की जिसके बाद पुलिस और पब्लिक के बीच में तनाव बढ़ गया और बाद में पुलिस ने मामले को कण्ट्रोल करने के लिए लाठीचार्ज की और गोलियां चलाई जिसमें काफी लोग घायल हो गए थे और एक की मौत हो गई थी.  

इस घटना के बाद थाना प्रभारी को निलंबित कर दिया गया है मगर बिहार चुनाव के बीच यह सियासी मुद्दा बन गया है और मुंगेर में हुई हिंसा और मौत को लेकर विपक्ष सरकार को लगातार घेर रही है.

मुंगेर में पुलिसिया कार्रवाई पर फिर बोले चिराग, कहा-सीएम जनरल डायर की भूमिका में आ गए, पढ़ें

मुंगेर- पुलिसिया कार्रवाई का क्रूर वीडियो हुआ वायरल, फायरिंग और उपद्रव में एक की मौत

मुंगेर में पुलिस की क्रूर कार्रवाई पर बोले चिराग- दर्ज हो 302 का मुकदमा, एसपी को करें सस्पेंड