जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के अवंतीपोरा में हुए एक बड़े आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 18 जवान शहीद हो गए हैं। श्रीनगर-जम्मू हाइवे पर स्थित अवंतीपोरा इलाके में आतंकियों ने सीआरपीएफ के एक काफिले पर हमला किया है। इस हमले के बाद से ही दक्षिण कश्मीर के कई इलाकों में सुरक्षा एजेंसियों द्वारा अलर्ट जारी किए गए हैं। पुलवामा के इस आतंकी हमले के बाद आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस घटना की जिम्मेदारी ली है।

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, गुरुवार शाम केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवानों पर अवंतीपोरा के गरीपोरा के पास घात लगाकर बैठे आतंकियों द्वारा हमला किया गया। स्थानीय सूत्रों के अनुसार आतंकियों ने इस इलाके में पहले हाइवे पर लगाई आईईडी में ब्लास्ट किया और फिर सीआरपीएफ जवानों के वाहनों पर ऑटोमैटिक हथियारों से जबरदस्त गोलीबारी की। इस हमले में सीआरपीएफ का वाहन भी आईईडी ब्लास्ट की चपेट में आ गया, इस हमले में 16 जवान घायल हुए। इस हमले के बाद जवानों को तुरंत श्रीनगर के हॉस्पिटल में शिफ्ट करने का काम शुरू किया गया, लेकिन अस्पताल में ले जाते वक्त 18 जवान शहीद हो गए। इसके अलावा अन्य 10 से अधिक जवानों को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराकर इनका इलाज शुरू कराया गया।

इस घटना को उरी के बाद सबसे बड़ा आतंकी हमला कहा जा रहा है। इससे संबंधित उपडेट्स आने अभी बाकी हैं। खबरों के अनुसार शहीद जवानों की संख्या और बढ़ सकती है। सीआरपी की तरफ से खबर लिखे जाने तक शहीद जवानों की संख्या को लेकर कोई पुष्टि या बयान नही आया है। घटना के बाद इलाके को सेना ने अपने कब्जे में लेकर कॉम्बिंग ऑपेरशन शुरू कर दिया है।