हेट स्पीच को लेकर भाजपा नेता प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ़ सुप्रीम कोर्ट जाएंगे जयराम रमेश

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने मंगलवार को कहा कि कर्नाटक के शिवमोग्गा में एक समारोह में भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर की टिप्पणी नफरत फैलाने वाले भाषण का एक स्पष्ट उदाहरण है और वह उनके खिलाफ़ उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाएंगे।

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने मंगलवार को कहा कि कर्नाटक के शिवमोग्गा में एक समारोह में भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर की टिप्पणी नफरत फैलाने वाले भाषण का एक स्पष्ट उदाहरण है और वह उनके खिलाफ़ उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाएंगे।

रमेश ने कहा कि वह ठाकुर के खिलाफ शीर्ष अदालत में मामला दायर करेंगे क्योंकि कर्नाटक में पुलिस भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद के खिलाफ़ कार्रवाई नहीं करेगी।

कर्नाटक में वर्तमान में भाजपा का शासन है और राज्य में अगले साल की शुरुआत में विधानसभा चुनाव होने हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर की कर्नाटक में की गई टिप्पणी नफरत भरे भाषण का एक स्पष्ट उदाहरण है और मैं उनके खिलाफ़ इस तरह की टिप्पणी करने के लिए उच्चतम न्यायालय का रुख करूंगा।

उन्होंने कहा कि ठाकुर की टिप्पणी स्पष्ट रूप से समाज को विभाजित करने की कोशिश करती है, जबकि दावा किया जाता है कि स्थानीय पुलिस दक्षिणी राज्य में भाजपा के सत्ता में होने के कारण उनके खिलाफ़ कार्रवाई नहीं करेगी।

ठाकुर ने कहा कि हिंदुओं को उन पर और उनकी गरिमा पर हमला करने वालों को जवाब देने का अधिकार है क्योंकि उन्होंने हिंदू कार्यकर्ताओं की हत्या के बारें में बात की थी।

उन्होंने हिंदुओं से कम से कम अपने घरों में चाकुओं को तेज रखने का भी आह्वान किया, क्योंकि सभी को अपनी रक्षा करने का अधिकार हैं।

रविवार को शिवमोग्गा में हिंदू जागरण वेदिके के दक्षिणी क्षेत्र के वार्षिक सम्मेलन में बोलते हुए, मध्य प्रदेश के भोपाल से भाजपा सांसद ने सभा को कहा कि जो कोई भी “हमारे घर में घुसपैठ करता है” उसे करारा जवाब दिया जाए।

“अपने घरों में हथियार रखो। और कुछ नहीं तो कम से कम सब्जी काटने वाले चाकुओं की धार तो रखो…. पता नहीं क्या स्थिति आ जाए जब…. आत्मरक्षा का अधिकार सबका हैं।

अगर कोई हमारे घर में घुसकर हम पर हमला करता है तो मुंहतोड़ जवाब देना हमारा अधिकार हैं। “लव जिहाद। उनके पास जिहाद की परंपरा है। अगर कुछ नहीं है, तो वे लव जिहाद करते हैं।

अगर वे प्यार भी करते हैं, तो उसमें जिहाद करते हैं। हम (हिंदू) भी प्यार करते हैं, भगवान से प्यार करते हैं, एक सन्यासी अपने भगवान से प्यार करता है,” ठाकुर ने कहा।

समारोह में बोलते हुए, उन्होंने यह भी कहा, “एक सन्यासी कहते हैं कि भगवान द्वारा बनाई गई इस दुनिया में, सभी अत्याचारियों और पापियों का अंत करें।

अगर नहीं तो यहां प्यार की असली परिभाषा नहीं बचेगी। इसलिए लव जिहाद में शामिल लोगों को उसी तरह जवाब दें। अपनी लड़कियों की रक्षा करें, उन्हें सही मूल्य सिखाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *