गुजरात अपराध : गुजरात में बेटी के अश्लील वीडियो का विरोध करने पर बीएसफ जवान की पीट-पीट कर हत्या

समाचार एजेंसी एएनआई ने बताया कि गुजरात में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के एक जवान की बेटी के अश्लील वीडियो का विरोध करने पर पीट-पीट कर हत्या करने के आरोप में सात लोगों को गिरफ्तार किया गया हैं।

समाचार एजेंसी एएनआई ने बताया कि गुजरात में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के एक जवान की बेटी के अश्लील वीडियो का विरोध करने पर पीट-पीट कर हत्या करने के आरोप में सात लोगों को गिरफ्तार किया गया हैं।

सिपाही, जिसकी पहचान मेलाजी वाघेला (45) के रूप में हुई है, पर उस लड़के के परिवार के सदस्यों द्वारा कथित रूप से धारदार हथियारों और लाठियों से हमला किया गया था, जिससे उसने अपनी नाबालिग बेटी का वीडियो ऑनलाइन अपलोड करने के लिए संपर्क किया था।

नडियाद के पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) वीआर बाजपेई ने गिरफ्तारियों की पुष्टि करते हुए कहा कि वाघेला, उनका बेटा और रिश्तेदार एक आरोपी शैलाश यादव के घर गए और वीडियो के बारे में उससे और उसके परिवार से बात की।

इसके बाद दोनों पक्षों में मारपीट हो गई, जिसमें शैलेश के पिता दिनेश यादव, चाचा अरविंद यादव व परिवार के अन्य सदस्यों ने बीएसएफ जवान पर हमला कर दिया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

परिवार के सात सदस्यों में से दो महिलाएं हैं जिन्हें हत्या और दंगा करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। एएनआई ने बताया कि सभी आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया हैं।

प्रथम सूचना रिपोर्ट (एफआईआर) के अनुसार, नदियाद तहसील के वाणीपुरा गांव के शैलेश उर्फ ​​सुनील यादव ने वाघेला की बेटी का एक वीडियो बनाया था, और कुछ दिन पहले ही उसे अपलोड करने के बाद इसे व्यापक रूप से ऑनलाइन शेयर किया गया था।

शैलेश कथित तौर पर बीएसएफ जवान की बेटी का सहपाठी है और दोनों के बीच संबंध थे। शैलेश के घर 24 दिसंबर को जब मारपीट हुई तो नाबालिक मौके पर मौजूद नहीं थी।

हालांकि, उनके परिवार के सदस्यों ने बीएसएफ कर्मियों और उनके परिवार पर हमला किया। वाघेला के बेटे नवदीप के सिर में गंभीर चोट आई है और उसका अहमदाबाद सिविल अस्पताल में इलाज चल रहा हैं।

मृतक बीएसएफ जवान की पत्नी मंजुलाबेन ने चकलासी थाने में प्राथमिकी दर्ज की थी और आईपीसी की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था। वाघेला बीएसएफ की 56वीं बटालियन में कांस्टेबल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *