स्मार्ट सिटी ऑफ नॉलेज बनाने के लिए यूपी सरकार ने ऑस्टिन यूनिवर्सिटी के साथ समझौता किया

उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य में स्मार्ट सिटी ऑफ नॉलेज के निर्माण के लिए अमेरिका स्थित ऑस्टिन विश्वविद्यालय के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं, अधिकारियों ने रविवार को बताया।

उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य में स्मार्ट सिटी ऑफ नॉलेज के निर्माण के लिए अमेरिका स्थित ऑस्टिन विश्वविद्यालय के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं, अधिकारियों ने रविवार को बताया।

एक आधिकारिक बयान के मुताबिक, 42 अरब अमेरिकी डॉलर की लागत से 5,000 एकड़ जमीन पर बनने वाले नॉलेज सिटी में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालय शामिल होंगे।

राज्य के अनुसार, स्टार कंसोर्टियम राज्य में डेटा सेंटर और लॉजिस्टिक्स सेवाएं प्रदान करेगा जबकि एसएलजी ग्रुप कैपिटल डेटा सेंटर का निर्माण करेगा। इन निवेश प्रस्तावों और एमओयू से राज्य के लोगों को रोजगार के हजारों अवसर उपलब्ध होंगे।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 10-12 फरवरी के बीच होने वाले ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के जरिए 10 लाख करोड़ रुपए के निवेश को आकर्षित करने का लक्ष्य मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तय किया हैं।

रोड शो और ट्रेड शो के जरिए निवेश आकर्षित करने के लिए मंत्रियों और अधिकारियों के आठ दल 18 देशों के दौरे पर हैं। अमेरिका स्थित सलोनी हार्ट फाउंडेशन ने भी सैन फ्रांसिस्को में मंत्री सुरेश कुमार खन्ना और अतिरिक्त मुख्य सचिव (बुनियादी ढांचा और औद्योगिक विकास) अरविंद कुमार की उपस्थिति में एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं।

नॉलेज सिटी परियोजना पर ऑस्टिन विश्वविद्यालय के अध्यक्ष अशरफ अली मुस्तफा ने कहा कि इससे भारत और अन्य जगहों पर उच्च शिक्षा की तस्वीर पूरी तरह से बदलने की उम्मीद हैं।

फिनटेक स्टार्टअप फाल्कन एक्स के सीईओ मुरली चिराला के साथ भी तीन समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए गए। बयान के अनुसार, इसके उद्यमियों ने इन्वेस्ट यूपी के तहत इनक्यूबेटर और एक्सीलरेटर इकाइयां स्थापित करने में रुचि दिखाई हैं।

प्रतिनिधिमंडल ने सैन फ्रांसिस्को में सिलिकॉन वैली के निर्माण में योगदान देने वाले वैश्विक उद्यमिता संगठन टीआईई के सदस्यों और भारतीयों से मुलाकात की।

प्रतिनिधिमंडल ने उनसे उत्तर प्रदेश में सिलिकॉन वैली बनाने की अपील की ताकि भारतीय भी इसका लाभ उठा सकें। जापान में एक रोड शो के दौरान सेइको एडवांस लिमिटेड के निदेशक युकिनोरी कोबे ने गौतम बुद्ध नगर में एक निर्माण इकाई स्थापित करने के लिए यूपी सरकार के साथ 850 करोड़ रुपये के समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।

इस MoU के माध्यम से राज्य के लोगों के लिए 200 से अधिक रोजगार के अवसर सृजित होंगे। औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल ने ट्वीट कर कहा कि निवेश आकर्षित करने के लिहाज से उनके विदेश दौरे काफी सफल रहे।

जर्मनी, बेल्जियम और स्वीडन में रोड शो अत्यधिक सफल रहे। बयान के मुताबिक, नौ दिनों के भीतर यूपी सरकार की टीम ने तीन देशों का दौरा किया और हजारों करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव प्राप्त हुए।

विदेशों में रोड शो और वन-टू-वन बिजनेस मीटिंग का यह दौर 19 दिसंबर तक चलेगा। नीदरलैंड में रोड शो के बाद उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और आईटी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग के मंत्री योगेंद्र उपाध्याय निवेश आकर्षित करने के लिए सोमवार को फ्रांस जाएंगे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *