नौसेना को मिला ‘बाहुबली’, जंगी बेड़े में शामिल हुआ आईएनएस मोरमुगाओ, रक्षा मंत्री ने गिनाईं खासियतें

आईएनएस मोरमुगाओ, एक स्वदेशी स्टील्थ गाइडेड मिसाइल विध्वंसक है, जिसे आज रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भारतीय नौसेना की समुद्री और युद्धक क्षमताओं को एक प्रमुख बढ़ावा देने के लिए कमीशन किया।

आईएनएस मोरमुगाओ, एक स्वदेशी स्टील्थ गाइडेड मिसाइल विध्वंसक है, जिसे आज रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भारतीय नौसेना की समुद्री और युद्धक क्षमताओं को एक प्रमुख बढ़ावा देने के लिए कमीशन किया।

163 मीटर x 17 मीटर के इस युद्धपोत का नाम गोवा के ऐतिहासिक बंदरगाह शहर मोरमुगाओ के नाम पर रखा गया है। यह परमाणु, जैविक और रासायनिक युद्ध स्थितियों में लड़ सकता हैं।

चार शक्तिशाली गैस टर्बाइनों द्वारा संचालित, युद्धपोत 30 समुद्री मील से अधिक की गति प्राप्त करने में सक्षम हैं। कहा जाता है कि आईएनएस मोरमुगाओ में अत्याधुनिक हथियार और सेंसर हैं।

यह आधुनिक निगरानी रडार के अलावा सतह से सतह और सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइलों से लैस है जो हथियार प्रणालियों को लक्ष्य डेटा प्रदान करता हैं।

यह चार ‘विशाखापत्तनम’ श्रेणी के विध्वंसक में से दूसरा है जिसे भारतीय नौसेना के युद्धपोत डिजाइन ब्यूरो द्वारा स्वदेशी रूप से डिजाइन किया गया है।

युद्धपोत का निर्माण मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड द्वारा किया गया था। पुर्तगाली शासन से गोवा की मुक्ति के 60 साल पूरे होने पर आईएनएस मोरमुगाओ ने पिछले साल 19 दिसंबर को अपनी पहली समुद्री उड़ान भरी थी।

एक रक्षा विज्ञप्ति में कहा गया है कि यह नौसेना की लड़ाकू क्षमताओं में महत्वपूर्ण रूप से वृद्धि करेगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *