भारत की मिरर स्ट्रेटजी के आगे चीन ने टेके घुटने : तवांग से लेकर गलवान तक ड्रैगन की साजिश को ऐसे किया नाकाम

तवांग सेक्टर के पास यांग्स्ते क्षेत्र में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प के बाद, भारतीय बलों ने चीनी सैनिकों द्वारा छोड़े गए स्लीपिंग बैग और अन्य उपकरण बरामद किए हैं, जब वे सुरक्षा के लिए वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के दूसरी ओर क्षेत्र से हट रहे थे।

तवांग सेक्टर के पास यांग्स्ते क्षेत्र में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प के बाद, भारतीय बलों ने चीनी सैनिकों द्वारा छोड़े गए स्लीपिंग बैग और अन्य उपकरण बरामद किए हैं, जब वे सुरक्षा के लिए वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के दूसरी ओर क्षेत्र से हट रहे थे।

सूत्रों के अनुसार, चीनी सेना के जवानों द्वारा छोड़े गए स्लीपिंग बैग अत्यधिक ठंडे तापमान में खुले क्षेत्रों में जीवित रहने में उनकी मदद कर सकते हैं।

सैनिकों ने क्षेत्र से हटने के दौरान कुछ कपड़े और उपकरणों सहित अन्य सामान भी छोड़ दिया। नौ दिसंबर को तवांग सेक्टर के पास यांग्स्ते इलाके में चीनी सैनिकों की भारतीय सैनिकों से भिड़ंत हो गई थी।

सूत्रों ने कहा कि 300 से अधिक चीनी सैनिकों ने 17,000 फुट ऊंची चोटी तक पहुंचने और एक भारतीय चौकी को उखाड़ने का प्रयास किया था, लेकिन उनके प्रयासों को भारतीय सेना द्वारा सफलतापूर्वक विफल कर दिया गया था।

आमने-सामने होने से दोनों पक्षों के कुछ कर्मियों को मामूली चोटें आईं। प्रारंभिक रिपोर्टों में कहा लेकिन रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने संसद को बताया कि भारतीय पक्ष में कोई बड़ी चोट नहीं आई है। झड़प के बाद दोनों पक्ष तुरंत इलाके से हट गए। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *