छत्रपति शिवाजी पर राज्यपाल कोश्यारी की टिप्पणी के खिलाफ़ आज पुणे बंद

मराठा योद्धा छत्रपति शिवाजी महाराज के बारे में महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी द्वारा की गई विवादास्पद टिप्पणी की निंदा करने के लिए पुणे में कुछ अन्य संगठनों के साथ विपक्षी दलों ने मंगलवार को पुणे बंद का आह्वान किया हैं।

मराठा योद्धा छत्रपति शिवाजी महाराज के बारे में महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी द्वारा की गई विवादास्पद टिप्पणी की निंदा करने के लिए पुणे में कुछ अन्य संगठनों के साथ विपक्षी दलों ने मंगलवार को पुणे बंद का आह्वान किया हैं।

कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा), शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे), संभाजी ब्रिगेड और अन्य संगठनों ने बंद की घोषणा की है, जिसमें मंगलवार को दोपहर 3 बजे तक सभी दुकानें बंद रहेंगी।

आम आदमी पार्टी (आप), एआईएमआईएम, जनता दल, वंचित बहुजन अगाड़ी, और शेतकारी कामगार भी भाग लेंगे। पिछले महीने, राज्यपाल कोश्यारी ने छत्रपति शिवाजी महाराज को “पुराने समय का प्रतीक” कहकर नाराजगी जताई थी।

बाद में, उन्होंने टिप्पणी के लिए खेद व्यक्त किया, यह दावा करते हुए कि उन्हें गलत समझा गया था। हालाँकि, विपक्षी दल और कुछ मराठा संगठन उनके इस्तीफे की मांग कर रहे हैं।

राज्यपाल की टिप्पणी की राज्य भर में व्यापक निंदा हुई। पार्टियों ने सर्वसम्मति से शहर में बंद का आह्वान किया है क्योंकि उनकी टिप्पणी के लिए राज्यपाल के खिलाफ़ कोई कार्रवाई नहीं की गई हैं।

मराठा राजा शिवाजी के बारे में अपनी टिप्पणी के विवाद के बीच, महाराष्ट्र के राज्यपाल बी एस कोश्यारी ने सोमवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर अपनी स्थिति स्पष्ट की और इस मामले पर उनसे सलाह मांगी।

पीटीआई के अनुसार, फेडरेशन ऑफ ट्रेडर्स एसोसिएशन ऑफ पुणे (एफएटीपी) के अध्यक्ष फतेहचंद रांका ने गुरुवार को कहा कि तीनों दलों के पदाधिकारियों और संभाजी ब्रिगेड ने व्यापारियों के संगठन से राज्यपाल के बयानों की निंदा करने के लिए बुलाए गए बंद का समर्थन करने की अपील की थी।

रांका ने कहा, “इन पार्टियों की अपील के बाद फेडरेशन के सभी सदस्यों की एक आंतरिक बैठक हुई और मंगलवार दोपहर तीन बजे तक दुकानें बंद रखकर बंद का समर्थन करने का निर्णय लिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *