एनएचपीसी ने छमाही के लिए अब तक के उच्चतम उत्पादन तथा वित्तीय प्रदर्शन की जानकारी दी

भारत की अग्रणी जलविद्युत कंपनी एनएचपीसी लिमिटेड ने मजबूत प्रदर्शन के दम पर स्टैंडअलोन शुद्ध लाभ में 12 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है।

  • एनएचपीसी ने स्टैंडअलोन शुद्ध लाभ में 12 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की
  • कंपनी ने 2483 करोड़ रुपये का कर (पीएटी) अदा करने के बाद अब तक का सर्वाधिक अर्धवार्षिक एकल लाभ प्राप्त किया
  • एनएचपीसी की कुल स्थापित क्षमता इसके 24 विद्युत केंद्रों के माध्यम से 7071 मेगावाट अक्षय ऊर्जा की
https://i0.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002FEC8.jpg?w=640&ssl=1

2000 मेगावाट सुबनसिरी निचली हाइड्रोइलेक्ट्रिक परियोजना (असम/अरुणाचल प्रदेश)

भारत की अग्रणी जलविद्युत कंपनी एनएचपीसी लिमिटेड ने मजबूत प्रदर्शन के दम पर स्टैंडअलोन शुद्ध लाभ में 12 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है।

कंपनी ने पिछली छमाही में 2217 करोड़ रुपये के पीएटी के मुकाबले 2483 करोड़ रुपये का कर अदा किया। इसके बावजूद एनएचपीसी ने अब तक का सबसे अधिक अर्धवार्षिक लाभ (पीएटी) दर्ज किया है।

चालू छमाही के लिए समेकित पीएटी में एनएचपीसी की हिस्सेदारी 2575 करोड़ रुपये है जो पिछली छमाही के 2243 करोड़ रुपये के कुल पीएटी से 15 प्रतिशत अधिक है।

वर्तमान तिमाही और छमाही के लिए उत्पादन क्रमशः 10138 मिलियन यूनिट तथा 18303 मिलियन यूनिट सबसे ज्यादा रहा है।

30 सितंबर 2022 को समाप्त हुई तिमाही व छमाही के लिए कंपनी के उत्पादन केंद्रों की समग्र संयंत्र उपलब्धता भी एकल आधार पर क्रमशः 99.87 एवं 99.23 प्रतिशत पर सबसे अधिक है।

एनएचपीसी बोर्ड ने 10 नवंबर 2022 को आयोजित अपनी बैठक में 30 सितंबर,2022 को समाप्त तिमाही और छमाही के वित्तीय परिणामों की घोषणा की थी।

एनएचपीसी लिमिटेड भारत की प्रमुख जलविद्युत कंपनी हैएनएचपीसी की कुल स्थापित क्षमता 7071 मेगावाट अक्षय ऊर्जा (पवन और सौर सहित) की है।इसके 24 विद्युत केंद्रों के माध्यम से और सहायक कंपनी के सहयोग से 1520 मेगावाट ऊर्जा उत्पादन होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *