महाराष्ट्र में शिंदे सरकार का पहला कैबिनेट विस्तार, दोनों खेमे के 18 मंत्रियों ने ली शपथ

मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में भाजपा और शिवसेना के कुल 18 विधायकों ने आज मुंबई में एक भव्य समारोह में मंत्रियों के रूप में शपथ ली। यह बहुप्रतीक्षित कैबिनेट विस्तार श्री शिंदे के नेतृत्व वाले शिवसेना गुट द्वारा उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली सरकार को गिराने के 40 दिनों के बाद हुआ।

मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में भाजपा और शिवसेना के कुल 18 विधायकों ने आज मुंबई में एक भव्य समारोह में मंत्रियों के रूप में शपथ ली। यह बहुप्रतीक्षित कैबिनेट विस्तार श्री शिंदे के नेतृत्व वाले शिवसेना गुट द्वारा उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली सरकार को गिराने के 40 दिनों के बाद हुआ।

मुख्यमंत्री शिंदे ने आज सुबह समारोह से पहले अपने खेमे के विधायकों से मुलाकात की। उन्हें शिवसेना के 55 में से 40 विधायकों का समर्थन प्राप्त हैं। श्री शिंदे के मुख्यमंत्री के रूप में और भाजपा के देवेंद्र फडणवीस के जून में उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण के बाद विपक्ष ने मंत्रिमंडल के विस्तार में देरी की आलोचना की थी।

कैबिनेट विस्तार के लिए श्री शिंदे और भाजपा नेतृत्व के बीच बैठकों की एक श्रृंखला देखी गई। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह सहित अन्य लोगों के साथ संभावित नामों पर चर्चा करने के लिए मुख्यमंत्री कई बार दिल्ली गए।

अंतिम सूची उद्धव ठाकरे नेतृत्व के खिलाफ़ विद्रोह के लिए शिवसेना के विधायकों को पुरस्कृत करने और भाजपा रैंकों में कोई नाराजगी नहीं है, यह सुनिश्चित करने के बीच एक अच्छा संतुलन दिखाती हैं।

कैबिनेट बर्थ पाने वाले बीजेपी विधायकों में चंद्रकांत पाटिल, सुधीर मुनगंटीवार, गिरीश महाजन,सुरेश खाड़े, राधाकृष्ण विखे पाटिल, रवींद्र चव्हाण, मंगल प्रभात लोढ़ा, विजयकुमार गावित और अतुल सावे हैं।

सेना खेमे से दादा भुस, संदीपन भुमरे, उदय सामंत, तानाजी सावंत, अब्दुल सत्तार, दीपक केसरकर, गुलाबराव पाटिल, संजय राठौड़ और शंभूराजे देसाई शपथ लेंगे। चंद्रकांत पाटिल भाजपा की राज्य इकाई के प्रमुख और कोथरुड से विधायक हैं।

वह इससे पहले देवेंद्र फडणवीस सरकार में राजस्व मंत्री रह चुके हैं। सुधीर मुनगंटीवार राज्य में पार्टी के प्रमुख नेताओं में से हैं और उन्होंने पिछली भाजपा नीत सरकार में वित्त मंत्री के रूप में कार्य किया हैं।

2019 में कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आए श्री विखे पाटिल को भी जगह दी गई हैं। एकनाथ शिंदे खेमे से कैबिनेट में प्रवेश करने वालों में एकनाथ शिंदे के सहयोगी दादा भुसे हैं, जो पहले शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस की महा विकास अघाड़ी सरकार में कृषि मंत्री के रूप में काम कर चुके हैं।

उदय सामंत रत्नागिरी से विधायक हैं और राकांपा के पूर्व नेता हैं। श्री फडणवीस, जिन्हें भाजपा आलाकमान के एक निर्देश के बाद उपमुख्यमंत्री पद के लिए समझौता करना पड़ा था, उन्हें कैबिनेट में गृह विभाग मिल सकता हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.