ट्रोल हुए बाबुल सुप्रियो बोले- बीजेपी भी उन पर भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा सकती

भाजपा छोड़ने के लगभग एक साल बाद बुधवार को पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के मंत्रिमंडल में शामिल हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने कहा कि भाजपा भी उन पर कभी भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा सकती।

‘टर्नकोट’ होने के लिए ट्विटर पर ट्रोल हुए बाबुल सुप्रियो ने कहा कि वह इस बात से बेहद खुश हैं कि जिस पार्टी ने उन्हें ‘बलि का बकरा’ बनाने की कोशिश की, उस पर उन्होंने अपना ‘कोट’ बदलने का साहस दिखाया।

पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी के रूप में तृणमूल को बड़ा झटका देने वाले शिक्षक भर्ती घोटाले के बीच ममता बनर्जी ने मंत्रिमंडल में फेरबदल किया और इनमें बाबुल सुप्रियो भी शामिल हैं जिन्हें पर्यटन और सूचना प्रौद्योगिकी का प्रभार दिया गया हैं।

बीजेपी पर तंज कसते हुए बाबुल सुप्रियो ने कहा, ”आपकी आधी राज्य सरकारें दूसरी पार्टियों के ‘परेशान’ विधायकों के साथ हैं, अब तो ऊंचे पदों पर आसीन सांसदों को भूल जाइए। बंगाल में आपका ‘ऑपरेशन झारखंड’ बेनकाब हो गया।’ पार्टी को ‘अपराधियों’ के लिए ‘वाशिंग मशीन’ बताते हुए, बाबुल सुप्रियो ने ट्वीट किया, “हमारे इतिहास में कभी भी एक सत्ताधारी दल को विपक्ष से इतनी नफ़रत नहीं थी।

बाबुल सुप्रियो ने 2014 और 2019 दोनों चुनावों में आसनसोल लोकसभा सीट जीती और शहरी विकास और फिर भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम राज्य मंत्री के रूप में कार्य किया।

उन्हें 2021 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने मैदान में उतारा था, जिसमें वे हार गए थे। अपनी हार के बाद, उन्हें पिछले साल एक फेरबदल के दौरान केंद्रीय मंत्रिमंडल से हटा दिया गया था, जिसके बाद उन्होंने भाजपा छोड़ दी थी। सितंबर 2021 में वह तृणमूल में शामिल हो गए और इस साल उपचुनाव जीतकर विधायक बने।

Leave a Comment

Your email address will not be published.