राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को राज्य का बजट 2022-23 पेश किया। उन्होंने कहा कि राज्य में पर्यटन और आतिथ्य क्षेत्र को एक उद्योग के रूप में मान्यता दी जाएगी।

गहलोत ने वर्ष 2022-23 के लिए अपना चौथा बजट पेश किया, जिसमें मुख्य रूप से रोजगार और स्वास्थ्य सेवा पर ध्यान दिया गया। राजस्थान विधानसभा में बजट पेश करते हुए गहलोत ने इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना लागू करने की घोषणा की हैं गहलोत ने मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना के लिए 5,000 करोड़ रुपये के आवंटन की घोषणा की, जो पिछले बजट में 2,000 करोड़ रुपये थी।

पूरे भारत से सभी लाइव अपडेट के लिए हमारे साथ बने रहें। राज्य में ऑनलाइन गेम को विनियमित करने के लिए सरकार एक अधिनियम लाएगी: राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत बोले।

23 फरवरी राज्य में पर्यटन और आतिथ्य क्षेत्र को एक उद्योग के रूप में मान्यता दी जाएगी, सीएम अशोक गहलोत कहते हैं। राजस्थान बजट के बारे मे गहलोत ने मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना के लिए 5,000 करोड़ रुपये के आवंटन की घोषणा की, जो पिछले बजट में 2,000 करोड़ रुपये इंदिरा गांधी नहर परियोजना के नवीनीकरण के लिए 200 करोड़ रुपये थी।

पूर्वी राजस्थान नहर निगम की स्थापना की जाएगी। किसानों को 100 करोड़ रुपये का ब्याज मुक्त कर्ज। 17 जिलों के किसानों को दिन में सिंचाई के लिए बिजली मिलेगी।राजस्थान खाद्य प्रसंस्करण मिशन जिसके तहत प्रसंस्करण इकाइयों को सरकार द्वारा 50 प्रतिशत अनुदान दिया जाएगा। राजस्थान बागवानी विकास मिशन की स्थापना की जाएगी।

जोधपुर में कृषि विश्वविद्यालय में बाजरा के लिए उत्कृष्टता केंद्र स्थापित किए जाएंगे। राजस्थान बाजरा संवर्धन मिशन पर 100 करोड़ रुपये खर्च होंगे । 40 करोड़ रुपये की बाजरा प्रसंस्करण इकाई स्थापित की जाएगी, राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने बुधवार को बजट पेश करते हुए कहा। कृषि बजट , राजस्थान में जैविक खेती के लिए 600 करोड़ रुपये आवंटित किए गए है।

राजस्थान मे नए कृषि कॉलेज खुलेंगे सीएम अशोक गहलोत ने कहा। पुरानी पेंशन योजना को फिर से शुरू किया जाएगा। बस्सी, चाकसू, चोमू, बगरू में सैटेलाइट टाउन स्थापित किए जाएंगे। अप्रैल 2022 से आंगनबाडी कार्यकर्ताओं, आशा सहयोगिनी आदि के पारिश्रमिक में 20 प्रतिशत की वृद्धि होगी।

जनवरी 2004 के बाद शामिल हुए कर्मचारियों के लिए पूर्ण पेंशन योजना होगी। जल जीवन मिशन के तहत 36 नई परियोजनाएं शुरू होंगी। इसके लिए 10,000 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं। एडवेंचर टूरिज्म को बढ़ावा दिया जाएगा। टोंक में बनेगा बहुउद्देशीय इंडोर स्टेडियम।