राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के सुप्रीमो लालू यादव चारा घोटाले के मामले जमानत मिलने के बाद से पहली बार मुख्य रूप से अपने घर पटना में वापस आ रहे हैं। लालू यादव के पटना आने से आरजेडी के कार्यालय और राबड़ी देवी के निवास पर काफी चहल पहल है, साथ कार्यकर्ताओं में भी काफी उत्साह देखने को मिल रहा है। खबर है की लालू बिहार में कई जगहों पर होने वाले उपचुनाव में अपनी पार्टी का प्रचार प्रसार करेगें साथ में तेजस्वी यादव भी रहेंगे।


लालू यादव को इसी साल 30 अप्रैल को चारा घोटाले मामले में जमानत मिली थी। तभी से वो दिल्ली में अपनी बेटी, राज्यसभा सांसद मीसा भारती के घर पर रह रहे थे। वो 24 अक्टूबर दिन रविवार को अपनी बेटी मीसा और पत्नी राबड़ी देवी के साथ पटना आ रहे हैं। लालू वैसे 20 अक्टूबर को आने वाले थे लेकिन तब डॉक्टरों ने उन्हें यात्रा करने के लिए बिल्कुल माना कर दिया था। उस समय लालू के छोटे बेटे तेजस्वी यादव ने कहा था कि जब डॉक्टर इन्हे यात्रा करने की इजाजत दे देंगे तभी वो पटना आयेंगे।दिसंबर 2017 में पटना से रांची चारा घोटाले में पेश होने गए लालू को सीबीआई ने कोर्ट से ही जेल भेज दिया था, तब से लेकर इस साल अप्रैल 2021 तक जेल में ही रहे। इस बीच साल 2018 के 10 मई को लालू अपने बड़े बेटे तेज प्रताप यादव की शादी में शामिल होने के लिए पैरोल पर पटना आए थे।


लालू कुरेश्वरस्थान और तारापुर में होने वाले उपचुनाव में प्रचार भी कर सकते हैं लेकिन अपनी सेहत की वजह शायद ही वो अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से मिल पायेंगे। फिलहाल उनके स्वस्थ कारणों के चलते वो 24 घंटे मेडिलकाओ टीम की नजरों में ही रहेंगे जो उनका देख भाल करेगी।