वर्ष 2021 के अर्थशास्त्र के लिए नोबेल पुरस्कार की घोषणा हो गई है। इस साल यह पुरस्कार डेविड कार्ड, जोशुआ एंगरिस्ट और गिडो इंबेंस को दिया जाएगा। नोबेल प्राइज़ देने वाली संस्था ने इसकी जानकारी दी है। इकोनॉमिक साइंसज़ यानी अर्थशास्त्र विज्ञान के लिए दिए जाने वाले इस पुरस्कार को अधिकारिक नाम ‘स्वेरिग्स रिक्सबैंक प्राइज़’ से भी जाना जाता है।

पुरस्कार का एक हिस्सा डेविड कार्ड को दिया जाएगा जबकि दूसरा हिस्सा जोशुआ एंगरिस्ट और गिडो इंबेंस संयुक्त रूप से साझा करेंगे।  नोबेल समिति ने डेविड कार्ड को श्रम अर्थशास्त्र में उनके प्रयोगसिद्ध योगदान के लिए पुरस्कार का आधा हिस्सा दिया और दूसरा आधा हिस्सा संयुक्त रूप से जोशुआ डी एंग्रिस्ट और गुइडो डब्ल्यू इम्बेन्स को कारण संबंधों के विश्लेषण में उनके मेथेडोलॉजिकल योगदान के लिए प्रदान किया है।

स्वीडिश अकेडमी ने अपने बयान में बताया “इस साल के पुरस्कार विजेता डेविड कार्ड, जोशुआ एंग्रिस्ट और गुइडो इम्बेन्स ने हमें मार्केट बाजार के बारे में नई इनसाइट्स प्रदान की है और दिखाया है कि प्राकृतिक प्रयोगों से कारण और प्रभाव के बारे में क्या निष्कर्ष निकाला जा सकता है।

उनका अप्रोच अन्य क्षेत्रों में फैलने से प्रयोगसिद्ध अनुसंधान में क्रांतिकारी बदलाव आया है।” अकेडमी ने आगे बताया कि “सामाजिक विज्ञान में कई बड़े सवाल कारण और प्रभाव से संबंधित हैं। आप्रवास वेतन और रोजगार स्तरों को कैसे प्रभावित करता है? लंबी शिक्षा किसी की भविष्य की आय को कैसे प्रभावित करती है?”

कनाडाई मूल के डेविड कार्ड बर्कले में कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय से हैं, वहीं अमेरिकी नागरिक जोशुआ एंग्रिस्ट, मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से और डच राष्ट्रीयता वाले गुइडो इम्बेन्स स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से हैं।