गुजरात के गांधीनगर की महानगर पालिका के लिए 3 अक्टूबर को हुए मतदान के बाद आज सुबह वोटों की गिनती हुई जिसमें भाजपा विजयी रही। यहां मुख्य मुकाबला भाजपा-कांग्रेस-आम आदमी पार्टी के बीच रहा।

गांधीनगर निकाय चुनाव में सभी 44 सीटों के लिए काउंटिंग दोपहर बाद पूरी हुई जिसमें भाजपा ने 44 सीटों में से 40 सीटों पर बड़ी जीत हासिल की। वहीं कांग्रेस को कुल तीन सीटों पर जीत मिली,जबकि आम आदमी पार्टी महज एक सीट पर सिमट कर रह गई।

सुबह से शुरू हुई वोटों की गिनती में 11 बजे तक 44 सीट में से 20 सीटों के रुझान सामने आए थे जिसमें से 10 सीट पर भाजपा के प्रत्याशी आगे रहे, जबकि 6 सीट पर कांग्रेस तथा 4 सीट पर आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी आगे चल रहे थे। हालांकि दोपहर बाद भाजपा ने बड़ी जीत हासिल की।

महानगरपालिका के लिए रविवार,3 अक्टूबर को मतदान हुआ था। 56.24 फीसदी वोटिंग वर्ष 2016 के अनुपात में इस बार करीब 5 फ़ीसदी अधिक रही। 11 वार्ड की 40 सीटों के लिए 161 प्रत्याशी मैदान में थे।

पिछले चार बार हुए चुनाव में भाजपा को यहां बहुमत नहीं मिली, लेकिन हर बार महापौर भाजपा का ही चुना जाता रहा। सत्तारूढ़ भाजपा और विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने जहां सभी 44 सीटों पर उम्मीदवार उतारे थे, वहीं आप ने 40 सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए थे।

मैदान में अन्य उम्मीदवारों में बसपा के 14, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के दो, अन्य दलों के छह और 11 निर्दलीय उम्मीदवार शामिल थे। लेकिन भाजपा ने शुरू से ही इस चुनाव में बढ़त बनाए रखी।

जीत मिलने के बाद भाजपा खेमें में जश्न का माहौल दिखा। कार्यकर्ताओं का उत्साह भी चरम पर है। गांधीनगर की निवर्तमान महापौर रीटा पटेल ने कहा कि “भाजपा ने विकास के नाम पर वोट मांगा और जनता का साथ हमेशा भाजपा के साथ रहा है।” गांधीनगर में पार्टी कार्यकर्ताओं ने एक-दूसरे पर रंग डालकर और नारे लगाकर जीत का जश्न मनाया।