पश्चिम बंगाल की भवानीपुर सीट पर उपचुनाव के फैसले के लिए आज मतों की गिनती हो रही है। इससे पहले भाजपा उम्मीदवार प्रियंका टिबरेवाल ने कलकत्ता हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखकर परिणाम घोषित होने के बाद संभावित हिंसा को रोकने के लिए उपाय करने की मांग की है।

मुख्य न्यायाधीश को लिखी चिट्ठी में प्रियंका टिबरेवाल ने कोलकाता पुलिस को उपचुनाव परिणाम घोषित होने के बाद किसी भी तरह की हिंसा को रोकने के लिए सभी एहतियाती कदम उठाने के लिए सख्त आदेश देने की मांग की है।

बीते विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा की घटनाओं का जिक्र करते हुए टिबरेवाल ने लिखा “इस उपचुनाव के लिए मैं एक उम्मीदवार हूं। आपसे विनम्र अनुरोध करती हूं कि सभी सरकारी प्रवर्तन विभाग को अत्यधिक एहतियाती कदम उठाने का सख्त आदेश जारी करे, ताकि कोई निर्दोष मारा नहीं जाए, कोई यौन अपराध न हो, कोई भी जनता बेघर न हो, आगजनी की कोई घटना न हो। हम शांतिपूर्ण वातावरण में रहें।”

गौरतलब हो कि प्रियंका टिबरेवाल पेशे से स्वयं एक वकील हैं। वह कोलकाता हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में लॉ की प्रैक्टिस करती हैं। टिबरेवाल को ऐसी आशंका इसलिए है क्योंकि बंगाल चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद राज्य में हिंसा, आगजनी हत्याएं और दुष्कर्म की घटनाएं घटी थीं।

कलकत्ता हाईकोर्ट के आदेशानुसार, सीबीआई हत्या और बलात्कार के मामलों की जांच कर रही है। वहीं अन्य मामलों की जांच ममता सरकार द्वारा बनाई गई एसआईटी द्वारा हो रही है।

पश्चिम बंगाल में तीन सीटों पर हुए उपचुनाव के लिए वोटों की गिनती जारी है। तीनों सीटों में भवानीपुर से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का मुकाबला भाजपा की प्रियंका टिबरेवाल और सीपीएम के श्रीजीव विश्वास से है।

भवानीपुर विधानसभा उपचुनाव का परिणाम मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के लिए काफी अहम है क्योंकि आज के परिणाम से साफ होगा कि वह मुख्यमंत्री पद पर बनी रहेंगी या नहीं। भवानीपुर के अलावा बंगाल के समसेरगंज और जंगीपुर में हुए उपचुनाव के परिणाम भी आएंगे।