प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के अवसर पर शुक्रवार के दिन भारत ने टीकाकरण अभियान को तेजी देते हुए कोविड-19 टीके की 2.50 करोड़ से अधिक खुराक देकर नया रिकॉर्ड बनाया। को-विन पोर्टल पर दिए गए आंकड़ों के मुताबिक देश में अब तक दी गई कुल खुराक मध्यरात्रि 12 बजे 79.33 करोड़ के आंकड़े को पार कर गई।

खबरों के अनुसार इससे पहले दैनिक खुराक का रिकॉर्ड चीन ने जून में 2.47 करोड़ टीके लगाकर बनाया था।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने इसे विश्व इतिहास का सुनहरा अध्याय बताया ।मांडविया ने ट्वीट करते हुए लिखा “भारत को बधाई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस पर भारत ने आज इतिहास रच दिया है। 2.50 करोड़ से अधिक टीके लगा कर देश और विश्व के इतिहास में स्वर्णिम अध्याय लिखा है।

आज का दिन स्वास्थ्यकर्मियों के नाम रहा।” इससे पहले प्रधानमंत्री ने भी ट्वीट कर लिखा “हर भारतीय आज रिकार्ड संख्या में किये गये टीकाकरण को लेकर गौरवान्वित होगा। मैं टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिए हमारे चिकित्सकों, नवोन्मेषकों , प्रशासकों, नर्सों, स्वास्थ्य सेवा और अग्रिम मोर्चे के सभी कर्मियों की सराहना करता हूं। कोविड-19 को हराने के लिए टीकाकरण को बढ़ावा देते रहें।”

कहा जा रहा है कि जिन राज्यों में चुनाव होने वाले हैं वहां 100 प्रतिशत टीकाकरण करने पर अधिक जोर है। ये राज्य- उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड और गोवा हैं।

इन राज्यों में केंद्र जल्द से जल्द पूरी आबादी को कोरोना टीका लगाना चाहती है जिससे लोकतंत्र के पर्व के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन चुनौती न बन सके।

राज्यों के मामले में देखें तो 17 सितंबर को वैक्सीन के मामले में कर्नाटक टॉप पर रहा जहां शुक्रवार रात तक 26.92 लाख डोज दी गई। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री के. सुधाकर ने राज्य में वैक्सीनेशन के प्रयास की सराहना करते हुए ऐतिहासिक कोरोना वायरस वैक्सीनेशन अभियान को लेकर स्वास्थ्यकर्मियों और स्टाफ के अन्य लोगों का अभिवादन किया।

शुक्रवार को हुए टीकाकरण के बाद राज्य में अभी तक सितंबर महीने में कुल 87 लाख लोगों को वैक्सीन की खुराक दी जा चुकी है जबकि पूरे राज्य में यह आंकड़ा कुल 5.12 करोड़ लोगों का रहा। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि “हमें विश्वास है कि नवंबर के अंत में राज्य के सभी लोगों का वैक्सीनेशन पूरा हो जाएगा।”