कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने फिर मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए जीडीपी की नई परिभाषा दी है। पहली तिमाही में देश की जीडीपी बढ़ने पर सरकार द्वारा लगातार खुशी जताने पर राहुल गांधी ने कहा “सरकार कह रही है कि जीडीपी बढ़ रही है…मैं समझ नहीं पाया, लेकिन बाद में समझ आया कि जीडीपी का असली मतलब- गैस, डीजल और पेट्रोल है जिनके दाम लगातार बढ़ते जा रहे हैं।”

घरेलू गैस की कीमतों पर राहुल गांधी ने कहा कि, “2014 यानी कांग्रेस के कार्यकाल में एक सिलिंडर की कीमत 410 रुपये थी, लेकिन आज उसकी कीमत 885 रुपये है। इसे 116 गुना बढ़ा दिया गया है। 2014 में पेट्रोल के दाम 71.5 रुपये थे, जो आज 101 रुपये है, इसमें 42 फीसदी का इजाफा हुआ।”

राहुल ने कहा “कोई ये कह सकता है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल का दाम बढ़ा होगा, लेकिन अजीब सी बात ये है कि जब हमारी सरकार थी तो क्रूड ऑयल के दाम 105 डॉलर से ज्यादा थे, तब हमने 71 रुपये प्रति लीटर पेट्रोल दिया, लेकिन आज क्रूड ऑयल के दाम करीब 71 डॉलर प्रति बैरल है, फिर भी 101 रुपये प्रति लीटर पेट्रोल जनता को दिया जा रहा है।

सरकार ने जीडीपी (गैस, डीजल और पेट्रोल) से 23 लाख करोड़ रुपये कमाए हैं लेकिन वो पैसा आखिर गया कहां? डीजल और पेट्रोल का इकनॉमी के हर हिस्से में इनपुट होता है। जब इनके दाम बढ़ते हैं तो डायरेक्ट और इनडायरेक्ट चोट लगती है। डायरेक्टर उसे लगती है, जो सीधे पेट्रोल-डीजल से अपनी गाड़ी चलाते हैं, वहीं इनडायरेक्ट उन्हें लगती है जो ट्रांसपोर्ट कॉस्ट बढ़ने के चलते मंहगाई का सामना करते हैं।” उन्होंने आगे कहा,

“हमने पिछले कुछ दिनों में एक नया तरह का ट्रेंड देखा है। एक तरफ डिमॉनेटाइजेशन हुआ, वहीं दूसरी तरफ मॉनेटाइजेशन हो रहा है। जनता अब ये पूछ रही है कि मॉनेटाइजेशन किसका हुआ और डिमॉनेटाइजेशन किसका हुआ?

मैं बताता हूं… किसानों, मजदूरों, छोटे बिजनेसमैन, सरकारी कर्मचारियों का डिमॉनेटाइजेशन हो रहा है। अब मॉनेटाइजेशन की बात करें तो ये मोदी जी के चार-पांच दोस्तों का हो रहा है।

मोदी जी ने पहले कहा था कि मैं डीमोनेटाइजेशन कर रहा हूं और वित्त मंत्री कहती रहती हैं कि मैं मोनेटाइजेशन कर रही हूं। किसानों, मज़दूरों, छोटे दुकानदार, एमएसएमई, सैलरीड क्लास, सरकारी कर्मचारियों और ईमानदार उद्योगपतियों का डीमोनेटाइजेशन हो रहा है।”

राहुल गांधी ने आगे सरकार को घेरते हुए कहा कि “नरेंद्र मोदी, वित्त मंत्री पैनिक में हैं, उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि करना क्या है? हमारे प्रधानमंत्री डर गए हैं, ​इसे देखकर चीन भी अपनी योजना बना रहा है कि हिन्दुस्तान आ​र्थिक और नेतृत्व संकट में है तो हम जो निकाल सकते हैं वो निकाल लो।”

राहुल गांधी के इन सब बयानों और आरोपों पर भाजपा की तरफ से संबित पात्रा द्वारा पलटवार किया गया है। पार्टी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि “भ्रष्टाचार और गलत नीतियों के कारण कांग्रेस की सरकार में ग्रोथ रुक गया था।

उस दौरान सरकार फैसले नहीं ले पाती थी और अब राहुल गांधी भ्रम फैला रहे हैं।” “राहुल गांधी को नोटबंदी के दौरान काफी नुकसान हुआ होगा इसलिए अभी तक वह भुला नहीं पा रहे हैं, देश की जनता सब देख रही है” उन्होंने आगे कहा।

Read More:

  1. मनचले युवक ने महिला पर रॉड से किया हमला, जानें कहाँ की है घटना
  2. बिहार- जमीन से जुड़े विवादों के निपटारे के लिए जारी होगा यूनिक कोड
  3. राजद में फिर छिड़ा पोस्टर वार, बाहर आई ‘परिवार’ की तकरार
  4. सिद्धू ने फिर कैप्टन अमरिंदर के लिए जारी किया फरमान, क्या अब और बिगड़ेगी बात?
  5. अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी के बाद बाइडेन ने देश को किया संबोधित, फैसले का बचाव करते आए नजर
  6. अभिनेता सिद्धार्थ शुक्ला का हुआ निधन