दिल्ली मेट्रो में सफर करने वाले यात्रियों को किराया बढ़ोतरी का सामना करना पड़ सकता है। 1 अक्टूबर 2021 से दिल्ली मेट्रो का किराया बढ़ने की संभावना है। जानकारी के मुताबिक पहले जो किराया 50 रूपए था अब वह बढ़कर करीब 60 रूपए तक हो सकता है।

बता दें कि दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने पहले फेज का किराया भी बढ़ाया था। यह किराया मई 2020 में बढ़ाया गया था। अब वापस से इसकी बढ़ोतरी अक्टूबर 2021 में हो सकती है। दिल्ली मेट्रो में सफर करना यात्रियों के लिए 10 अक्टूबर 2021 से, 20 से 33 फीसदी तक महंगा हो जाएगा। नए बदलाव के अनुसार,

0 से 2 किलोमीटर के 10 रुपए के किराए में कोई परिवर्तन नहीं होगा,

2 से 5 किलोमीटर का किराया 20 रुपए हो जाएगा जो अभी 15 रुपए है,

5 से 12 किलोमीटर का किराया 30 रुपए होगा जो अभी 20 रुपए है,

12 से 21 किलोमीटर का किराया 40 रुपए हो जाएगा जो अभी 30 रुपए है,

21 से 32 किलोमीटर का किराया 50 रुपए होगा जो अभी 40 रुपए है, और वहीं

32 किलोमीटर से अधिक दूर का किराया 60 रुपए होगा जो अभी 50 रुपए है। 

इसके साथ दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने फेज-4 के 44 स्टेशनों पर ऑटोमैटिक फेयर कलेक्शन सिस्टम इंस्टॉल करने के लिए टेंडर प्रोसेस शुरू कर दिया है। मेट्रो नेटवर्क में अभी 32 फेयर जोन हैं, जिनके अनुसार किसी भी यात्री के द्वारा की गई यात्रा का आकलन करके किराया वसूला जाता है।

फेज-4 के बाद इन फेयर जोन्स की संख्या बढ़कर दोगुनी यानी 64 हो जाएगी। फेज-4 में 6 मेट्रो लाइन में बननी है जिसमें 3 लाइनों को मंजूरी मिल चुकी है। ऐसा होने के बाद दिल्ली मेट्रो की लंबाई बढ़ने के साथ स्टेशन बढ़ेंगे और ऑटोमैटिक फेयर कलेक्शन सिस्टम को अपग्रेड करना पड़ेगा जिसके लिए दिल्ली मेट्रो अथॉरिटी ने अभी से काम शुरू कर दिया है।