इंडिया टुडे की तरफ से दायर सूचना के अधिकार(आरटीआई) के जवाब में प्रधान मंत्री कार्यालय(पीएमओ) ने जानकारी दी है कि पीएमओ में कुल 301 कर्मचारी काम करते हैं और पीएमओ के लिए बजट का प्रावधान केंद्रीय गृह मंत्रालय की तरफ से किया जाता है। प्रधान मंत्री कार्यालय एक स्टाफिंग एजेंसी है, जो प्रधानमंत्री को उनकी भूमिका, कामों और जिम्मेदारियों के कुशलता से निभाने में मदद करती है।

रिपोर्ट में कहा गया कि पीएमओ के कामकाज को ठीक से समझने के लिए, ये आरटीआई दायर कर पूछा गया था- प्रधानमंत्री कार्यालय में कितने सेक्शन या डिपार्टमेंट होते हैं? पीएमओ ने बताया कि प्रधान मंत्री कार्यालय को व्यवसाय आवंटन नियम 1961 के तहत ‘भारत सरकार के विभाग’ का दर्जा प्राप्त है और इसके तहत कोई अलग विभाग नहीं है। उन सेक्शन या विभागों में कितने लोग काम कर रहे हैं? पीएमओ ने बताया कि आज की तारीख में, 301 कर्मचारी की कामकाजी ताकत हैं।उन सेक्शन या विभागों के लिए बजट का आवंटन क्या है?

बजट एलोकेशन पर सवाल के जवाब में प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा कि पीएमओ के संबंध में बजट का प्रावधान गृह मंत्रालय द्वारा किया जाता है और इसके संबंध में शीर्ष-वार और सालाना बजट/खर्च की जानकारी गृह मंत्रालय की वेबसाइट पर उपलब्ध है।रिपोर्ट में ये भी बताया गया कि इंडिया टुडे ने आरटीआई में दिए गए वेब लिंक पर सर्च कर चालू वित्त वर्ष में पीएमओ के लिए बजट एलोकेशन 58 करोड़ रुपये से थोड़ा ज्यादा पाया।