दिल्ली मे बेटी व राज्यसभा सांसद मीसा भारती के आवास पर स्वास्थ्य लाभ करते हुए राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के प्रमुख और बिहार की राजनीति के प्रमुख चेहरों में शुमार लालू प्रसाद यादव विपक्षी दलों के नेताओं से भी मिल रहे हैं।

मंगलवार को नई दिल्ली में वह पूर्व राज्यसभा सदस्य शरद यादव से मिले। इस मुलाकात के बाद उन्होंने मीडिया से बिहार की राजनीति और पेगासस जासूसी विवाद जैसे मुद्दों पर अपनी बात रखी।

बिहार में चिराग पासवान और तेजस्वी यादव के गठबंधन को लेकर राजद प्रमुख ने कहा कि “जो भी हुआ, चिराग पासवान लोजपा के नेता बने हुए हैं। हां, मैं उन्हें साथ देखना चाहता हूं।”

लालू के इस बयान पर लोजपा प्रमुख चिराग पासवान ने कहा कि “मैं उनकी भावनाओं का सम्मान करता हूं लेकिन मेरी प्रमुखता ‘आशीर्वाद यात्रा’ और अपने संगठन को मजबूत बनाना है। बिहार या उत्तर प्रदेश में किसी गठबंधन को लेकर विचार-विमर्श चुनाव पास आने पर किया जाएगा।”

लालू प्रसाद ने बिहार में सत्ताधारी गठबंधन को लेकर कहा कि “हम बिहार में सरकार बनाने वाले थे। मैं जेल में था लेकिन मेरे बेटे तेजस्वी यादव ने उनसे अकेले लड़ाई लड़ी। उन्होंने बेईमानी की और हमें 10-15 वोट से हराया था।”

मुलाकात पर उन्होंने कहा, “मैं यहां शरद यादव के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी लेने आया था, उनकी तबीयत ठीक नहीं है। संसद उनके बिना सूनी है। हम तीन- मैं, शरद भाई और मुलायम सिंह यादव कई मुद्दों के लिए लड़ाई की है… कल मुलायम सिंह यादव के साथ हुई मेरी बैठक एक औपचारिक मुलाकात थी।”

इसी कड़ी में बता दें कि उन्होंने सोमवार को उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के साथ मुलाक़ात की थी। इससे पहले उनकी एनसीपी प्रमुख शरद पवार और समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता रामगोपाल यादव से भी मुलाकात हुई थी।

पेगासस जासूसी बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद ने भी इसकी जांच की मांग करते हुए कहा “हां, यह होना चाहिए। जो इसमें शामिल रहे हैं उनके नाम सबके सामने आने चाहिए।” इसके साथ ही उन्होंने इस विषय पर संसद में चर्चा की मांग भी की।

मंगलवार को पूर्व सांसद शरद यादव के साथ मुलाकात की तस्वीरें लालू प्रसाद यादव ने अपने ट्विटर अकाउंट से साझा की थी। तस्वीरों को ट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा कि “वरिष्ठ समाजवादी नेता शरद भाई से मुलाक़ात कर स्वास्थ्य लाभ संबंधित जानकारी प्राप्त की।

सामाजिक, आर्थिक, शैक्षणिक और राजनीतिक असमानता के विरुद्ध हमारा लंबा संघर्ष रहा है। हम समाजवादियों का संघर्ष ही संस्कार है। सांप्रदायिकता और ग़ैर-बराबरी के खिलाफ अंतिम दम तक लड़ाई जारी रहेगी।”

Read More

  1. अक्षय कुमार की नई फिल्म का आज आ रहा है ट्रेलर
  2. जातीय जनगणना के पक्ष में नीतीश कुमार केंद्र की असहमति के बाद करेंगे राज्यस्तरीय कोशिश
  3. एआईएमआईएम से निपटने के लिए कांग्रेस और सपा ने तैयार की यह रणनीति
  4. मेकअप से इंदिरा गांधी के लुक में ढलने को लेकर चर्चा में रही लारा दत्ता
  5. टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने गृहमंत्री शाह को सदनों में आ जाने पर बाल मुंडवाने का दिया चैलेंज