कोरोना कि इलाज में कई तरह के दावे सामने आ रहे हैं। इसमें खास करके अल्कोहल के इस्तेमाल से बचाव की उम्मीद की जा रही है। सैनिटाइजर में भी अधिकतम मात्रा में अल्कोहल इस्तेमाल की बात कही गई थी। हालांकि अब अल्कोहल को सूंघकर भी इलाज में तेजी लाने की बात कही जा रही है।

अमेरिका में पिछले साल से ऐसे प्रयोग किए जा रहे हैं जिस में अल्कोहल की भाप को दवा के रूप में इस्तेमाल करने के प्रयास जारी है। अब तक इस प्रयोग के तीन चरणों के परिणाम सामने आए हैं जिसे लेकर वैज्ञानिक काफी उत्सुक हैं।

अब तक के परीक्षण में कुछ ही मिनटों में मरीज को सांस लेने में काफी आराम मिलता दिखा। फेफड़ों के इन्फेक्शन के मामले में अल्कोहल की भाप सूंघने के प्रयोग में पहली बार सफलता सामने आई है। इस पर वैज्ञानिकों का मानना है कि अगर इस तकनीक को सार्वजनिक प्रयोग में लाने की अनुमति मिले तो वह सच में एक क्रांतिकारी बदलाव लाएगा।

अमेरिका में फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन के सेंटर फॉर ड्रग इवेलुएशन एंड रिसर्च जारी है, साथ ही में दुनिया के कई साइंस जर्नलस में भी इस बात का जिक्र हुआ है कि इस तकनीक से कोरोना से लड़ने में मदद मिली है। कोरोना नाक के जरिए गले व फेफड़ों तक पहुंचता है इसलिए भाप लेने बाद इसमें मदद मिलेगी।

अल्कोहल के 65% मात्रा वाले सॉल्यूशन को एस्पिरिन के साथ या सीधे ऑक्सीजन के जरिए नाक के जरिए सांस के साथ फेफड़ों तक पहुंचाया जाता है। डॉक्टरों का कहना है कि कोरोना का शिकार हुए लोगों को पहले ऊपरी सांस लेने के नली पर असर पड़ता है।

इस पर शीघ्र नियंत्रण नहीं किया गया तो फिर वह निचली नली पर असर करता है। वैज्ञानिकों ने रिसर्च में पाया कि अल्कोहल की भाप तकनीक का सीधा असर कोरोना वायरस की बाहरी कंटीली प्रोटीन परत पर पड़ा। इसी प्रोटीन से वो इंसानों की कोशिकाओं पर हमला करता है,यानी ऑक्सीजन के साथ अल्कोहल की भाप नाक से सांस नली और फिर फेफड़ों तक गई।

इससे मरीजों के सांस नली, फेफड़े और नाक के भीतर कोरोना वायरस की वजह से झिल्लियों में जो सूजन थी, वो जल्दी ही दूर होने लगी और मरीजों को सांस लेने में आसानी हो गई। इससे फेफड़ों का इम्युनिटी सिस्टम पहले की तरह काम करने लगा।

Read More

  1. प्रधानमंत्री ने स्वर्गीय राम विलास पासवान जी की जयंती पर उन्हें याद किया
  2. लॉन्च के लिए तैयार सैमसंग गैलेक्सी एफ22, यह होंगे संभावित फीचर्स और कीमत
  3. ओवरसाइज टीशर्ट में देखी गई करीना कपूर खान, बेहद सस्ती है कीमत
  4. बिहार में जारी हुआ नया अनलॉक, शैक्षणिक संस्थान खोलने की मिली अनुमति
  5. मायावती ने संघ प्रमुख मोहन भागवत के बयान को आड़े हाथों लेते हुए बताया मुख में राम, बगल में छुरी जैसा
  6. एसबीआई की जारी रिपोर्ट में अगस्त तक कोरोना के तीसरे लहर का किया गया दावा
  7. असम के मुख्यमंत्री ने जारी बयान में आरोपियों को गोली मारने को बताया सही पैटर्न