दिल्ली में बाल कल्याण मंत्रालय के अधीन इंडियन साइन लैंग्वेज रिसर्च एंड ट्रेनिंग सेंटर पर सांकेतिक भाषा के अनुवादक के रूप में काम करने वाले इरफान शेख को यूपी एटीएस की पुलिस ने गिरफ्तार किया है जिसे लेकर कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं।

उसे धर्मांतरण का आरोपी बताया जा रहा है। लगे आरोपों के मुताबिक इरफान हिंदू और दूसरे धर्म के मूक-बधिर बच्चों को इस्लाम अपनाने के लिए प्रेरित और उनके अंदर बुराइयां और भड़काने की भावना उत्तेजित करता था। इरफान दो अलग-अलग मौकों पर ,2017 और 2020 में,प्रधानमंत्री मोदी के साथ मंच साझा कर चुका है जिसे लेकर प्रधानमंत्री ने उससे हाथ मिलाकर उसकी पीठ थपथपाई थी।

29 जून 2017 को गुजरात के राजकोट में और 29 फरवरी 2020 को उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में उसने प्रधानमंत्री के भाषण का संकेत की भाषा में अनुवाद करके उनकी बात मूक-बधिरों तक पहुंचाई थी। तब प्रधानमंत्री से प्रशंसा पाना उसने अपने लिए सौभाग्य की बात बताई थी।

 मूल रूप से महाराष्ट्र के बीड़ के रहने वाले इरफान ने कब धर्म के नशे में दूसरों को बहकाना शुरू कर दिया इसकी खबर किसी को नहीं थी। इसका खुलासा उमर गौतम और जहांगीर आलम के एटीएस के हाथ आने के बाद हुआ जब उन्होंने इरफान की असलियत बताई,जिसके बाद उसके दो साथियों, मूक-बधिर मन्नू यादव उर्फ़ मन्नान और राहुल भोला, के साथ उसे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया।

उत्तर प्रदेश एटीएस के आईजी जीके गोस्वामी का कहना है कि उनकी जांच के आधार पर इरफान धर्मांतरण अपराध में शामिल पाया गया था और उसे साक्ष्यों के आधार पर गिरफ्तार किया गया है। प्रधानमंत्री द्वारा मंच साझा करने के और सुरक्षा के उठे सवाल पर उन्होंने इस मामले पर कोई जानकारी ना होने और बाल कल्याण मंत्रालय द्वारा इसे बेहतर ढंग से समझाएं जाने की बात कही।

एटीएस ने इरफान शेख और उसके दोनों साथियों को सात दिनों तक रिमांड पर भेजने की बात कही जिसे लेकर गुरुवार को सुनवाई शुरू होगी। वही उमर गौतम और जहांगीर आलम की चार दिनों की रिमांड उत्तर प्रदेश एटीएस को मिल गई है। इस मामले में और भी कई गिरफ्तारियां होने की संभावना है।

परिवार की बारे में बता दें कि इरफान तीन भाइयों में सबसे छोटा है। उसके भाई फरखान ने ऐसे किसी भी मामले में उसके शामिल होने की बात को यह कहकर नकार दिया कि, “इरफान कभी कोई काम नहीं कर सकता।” 2013 में उसकी नौकरी बाल कल्याण मंत्रालय में लगी थी।