जाने-माने कवि कुमार विश्वास अक्सर समस्याओं को लेकर अलग अंदाज में अपनी आवाज बुलंद करने के लिए जाने जाते हैं। इस बार फिर कुछ ऐसा ही हुआ। दरअसल पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी(आप) अपनी कमर कस कर तैयार हो चुकी है।

ऐसे में सोमवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ऐलान किया कि अगर पंजाब में आम आदमी पार्टी(आप) की सरकार बनती है तो राज्य में 300 यूनिट बिजली मुफ्त दी जाएगी।

इसी ऐलान पर आप के सांसद संजय सिंह ने ट्वीट करके कहा कि आम आदमी पार्टी ने जो भी वादे किए हैं वे सब निभाए हैं और अगर पंजाब में सरकार बनती है तो सबसे पहले बिजली मुफ्त की जाएगी।

संजय सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा “दिल्ली में जो वादा किया था वो पूरा किया। फ्री पानी, फ्री बिजली, फ्री बस यात्रा, फ्री वाई-फाई, सीसीटीवी कैमरे, दो गुना अधिक पेंशन,आदि। पंजाब में सरकार बनेगी तो पहली कलम से- 300 यूनिट बिजली मुफ्त कर दी जाएगी।

पुराने बिजली के बिल माफ कर दिए जाएंगे।” इसी ऐलान पर कवि और पार्टी के पूर्व नेता रहे कुमार विश्वास ने तंज कसते हुए यमुना नदी में बढ़ रहे प्रदूषण को लेकर व्यंग्य किया। इसे दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार पर तंज माना जा रहा है। उन्होंने यमुना नदी की सतह पर तैरती जहरीले झाग को दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार की मुफ्त बिजली योजना से जोड़कर व्यंग किया।

कुमार विश्वास ने समाचार एजेंसी एएनआई के ट्वीट को रिट्वीट किया जिसमें एक वीडियो संग्लन है। इसमें दिल्ली के कालिंदी कुंज इलाके की यमुना नदी में विषैले झाग को सतह के ऊपर तैरता हुआ देखा जा सकता है। कुमार विश्वास ने लिखा, “यमुना जी में 300 यूनिट फ्री बिजली तैरती हुई।” इस पर लोग अपनी अलग-अलग प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

सरकार समर्थक के यूज़र्स की प्रतिक्रिया तीखी है तो वहीं कुछ यूज़र्स कुमार विश्वास के इस व्यंग का समर्थन कर रहे हैं। गौरतलब हो कि कोरोना महामारी के रोकथाम के लिए लगे लॉकडाउन के दौरान यमुना नदी में कम होते प्रदूषण की खबरें आई थी।

हालांकि की अनलॉक की प्रक्रिया शुरू होने के बाद एक बार फ़िर से नदी में प्रदूषण के मामले सामने आने लगे हैं। इसके रोकथाम के लिए विशेषज्ञों और नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने कई योजनाएं भी बनाई और अक्सर सामाजिक कार्यकर्ता और पर्यावरण विशेषज्ञ चिंता जाहिर करते रहते हैं लेकिन कोई प्रयास सार्थक होता नहीं दिख रहा।

यह भी बता दें कि कुमार विश्वास अक्सर अरविंद केजरीवाल और उनकी सरकार पर निशाना साधते रहते हैं। हाल ही में उन्होंने मुख्यमंत्री और उनके परिवार पर अप्रत्यक्ष रूप से निशाना साधा था लेकिन बाद में इसके लिए उन्हें माफी मांगनी पड़ी थी।