दो बार के ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार को शुक्रवार के दिन मंडोली जेल से तिहाड़ जेल नंबर 2 ले जाया गया। दिल्ली स्थित कोर्ट ने इस कस्टडी को 9 जुलाई,2021 तक बढ़ा दिया है। 14 दिन की कस्टडी समाप्त होने के बाद उसे मजिस्ट्रेट मयंक अग्रवाल के समक्ष पेश किया गया। उस पर हत्या, गैर इरादतन हत्या और किडनैपिंग के मामले दर्ज हैं।

तिहाड़ जेल के डीजी संदीप गोयल ने बताया कि सुशील कुमार के डेरी के पास सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं और पुलिस की फोर्स हर वक्त नजर रखेगी। साथी इस मामले में नया विवाद देखने को यह मिला की तिहाड़ जेल ले जाए जाने से पहले पुलिस फोर्स पहलवान सुशील कुमार के साथ सेल्फी लेती नजर आई।

इस घटना को सोशल मीडिया पर लोगों के गुस्से का शिकार होना पड़ा जिसमें अलग-अलग यूजर्स ने कहा कि हत्या और किडनैपिंग जैसे संगीन मामलों के आरोपी होने के बाद भी ऐसे खुले में हंसना और पुलिस फोर्स की फोटो के लिए तत्परता बहुत ही अपमानजनक है। बता दें की पहलवान सुशील कुमार पहलवान सागर धनकड़ के हत्या के मामले में दोषी है।

घटना संपत्ति विवाद को लेकर 4 मई,2021 के रात की है जिसका मुख्य आरोपी और मास्टरमाइंड सुशील कुमार पाया गया। सीसीटीवी कैमरे के जरिए धनकड़ और उसके दो साथियों, सोनू महल और अमित कुमार, के पिटाई का वीडियो मिला था जिसमें पहलवान वह कुछ अन्य लोगों के साथ छत्रसाल स्टेडियम के क्षेत्र में पहलवान सागर धनखड़ को धमकाते और बुरी तरह से पीटते हुए देखा गया था। 5 मई,2021 को उपचार के दौरान पहलवान सागर धनकड़ की मृत्यु हो गई थी।

 कई दिन, कई जगहों पर छुपने के बाद 23 मई,2021 को एक अन्य दोषी अजय कुमार शेहरावत के साथ उसकी गिरफ्तारी की गई थी। अब तक उसे 10 और 23 दिन के पुलिस और जुडिशल कस्टडी में भेजा जा चुका है। इस घटना में सुशील कुमार के साथ अब तक अन्य 10 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है।