कांग्रेस के संकटमोचक माने जाने वाले और गांधी परिवार के सबसे करीबी नेताओं में शुमार अहमद पटेल का आज अहले सुबह गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में निधन हो गया। उनके निधन की जानकारी उनके पुत्र फैजल पटेल ने एक ट्वीट के माध्यम से दी है। वह पिछले कई दिनों से बीमार चल रहे थे और उनके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था।


फैसल पटेल ने ट्वीट करके जानकारी दी कि ”बहुत दुख के साथ यह सूचना दी जा रही है कि आखिरकार मेरे पिता अहमद पटेल का 25 नवंबर को रात 3:30 बजे देहावसान हो गया। करीब एक माह पहले उनके कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद से उनकी तबीयत बहुत खराब थी। उनके शरीर के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। अल्लाह उन्हें जन्नत में जगह दे।’

फैसल ने अपने ट्वीट में सभी शुभचिंतकों से कोरोना गाइडलाइन का पालन करने की अपील की और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने को कहा है। वहीं अहमद पटेल के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी शोक व्यक्त किया है।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, ‘अहमद पटेल जी के निधन से दुखी हूं। उन्होंने कई साल सार्वजनिक जीवन में समाज के लिए काम किया। उन्हें अपने तेज दिमाग के लिए जाना जाता था। कांग्रेस को मजबूत करने के लिए वे हमेशा याद किए जाएंगे। मैंने उनके बेटे फैजल से बात की है। उनकी आत्मा को शांति मिले।’

राहुल गांधी ने कहा, ‘आज दुखद दिन है। अहमद पटेल कांग्रेस पार्टी के स्तंभ थे। वे हमेशा पार्टी के लिए जिए और कठिन वक्त में हमेशा पार्टी के साथ खड़े रहे। हमेशा उनकी कमी खलेगी।’