दिल्ली में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए पिछले दिनों केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने एक अहम बैठक की इसके अलावा राज्य सरकार ने भी अपनी पूरी ताकत कोरोना से लड़ाई में झोंक रखी है। इसके बावजूद दिल्ली में कोरोना का प्रभाव कम होने का नाम नही ले रहा है।


इसके बाद एक बार फिर दिल्ली में लॉकडाउन लगाने की अटकलों को बल मिलने लगा था हालांकि पहले स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन और अब उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इन अटकलों पर विराम लगाते हुए स्पष्ट किया है कि लॉकडाउन नही लगाया जाएगा।


दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मीडिया से बातचीत में कहा,’दिल्ली सरकार का लॉकडाउन लगाने का कोई इरादा नहीं है। लॉकडाउन कोरोना से लड़ने का उपाय नहीं है। इससे लड़ने का एकमात्र उपाय मेडिकल मैनेजमेंट है। अभी दिल्ली में 26000 लोग होम आइसोलेशन में हैं। हमारे पास 16000 बेड हैं जिनमें से 50% बेड खाली हैं।’

इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि शादियों में 200 लोगों की जगह सिर्फ 50 लोगों के शामिल होने के प्रस्ताव को उपराज्यपाल की मंजूरी मिल गई है। इससे पहले लॉकडाउन फिर से लगाने के सवाल पर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन पहले ही कह चुके हैं कि दिल्ली में लॉकडाउन बिल्कुल नहीं होगा। यहां इसकी कोई आवश्यकता नहीं है।


इन सब के बीच दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल दिल्ली के गुरु तेग बहादुर (जीटीबी) अस्पताल पहुंचे। यहाँ से व्यवस्था का जायजा लेने के बाद बाहर निकले केजरीवाल ने मीडिया से बातचीत में कहा,’ GTB अस्पताल प्रशासन 238 ICU बेड बढ़ाने के लिए तैयार है। इसे मिलाकर दिल्ली सरकार के सभी अस्पतालों में 663 ICU बेड हो जाएंगे।’


केजरीवाल ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार ने हमें DRDO फैसिलिटी के अंदर 750 बेड देने का आश्वासन दिया है। दोनों को मिलाकर कुछ दिनों के अंदर 1400 ICU बेड उपलब्ध हो जाएंगे। इसके अलावा दिल्ली एनसीआर में कोरोना की स्थिति पर चर्चा करने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कल सुबह 11बजे सर्वदलीय बैठक बुलाई है।