बिहार की नई नवेली सरकार में शिक्षा मंत्री का पद तारापुर से जदयू विधायक चुने गए मेवालाल चौधरी को दिया गया है। अब मंत्री बनते ही नीतीश के इस सिपहसालार के कारनामे सोशल मीडिया पर वायरल हैं। सोशल मीडिया के इस दौर में उनके एक से एक बयान और वीडियो घूमते नजर आ रहे हैं।


एक वायरल वीडियो में जहां शिक्षा मंत्री गलत राष्ट्रगान गाते नजर आ रहे हैं वहीं मंत्री पद की शपथ लेने के बाद जब भगल्फर के सबौर विश्वविद्यालय में हुए नियुक्ति घोटाले पर उनसे सवाल पूछा गया तो वह बगलें झांकते नजर आए। इसके अलावा अब मंत्री जी की पत्नी की आग से झुलस कर हुई मौत के मामले में भी एक पूर्व आईपीएस ने डीजीपी से जांच की मांग की है।


इसके अलावा सुशील मोदी के मेवालाल चौधरी पर दिए पुराने बयान की अखबार कटिंग शेयर करते हुए राजद ने भी एक पोस्ट के जरिये हमला बोला है। राजद की तरफ से लिखा गया,’जिस भ्रष्टाचारी जेडीयू विधायक को सुशील मोदी खोज रहे थे उसे भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह नीतीश कुमार ने मंत्री पद से नवाज़ा।यही है 60 घोटालों के संरक्षणकर्ता नीतीश कुमार का दोहरा चरित्र। यह आदमी कुर्सी के लिए किसी भी निम्नतम स्तर तक गिर सकता है।’