बिहार विधानसभा चुनावों को लेकर कांग्रेस में मचा बवाल फिलहाल थमता नजर नही आ रहा है। कपिल सिब्बल के एक बयान के सामने आने के बाद शुरू हुआ यह पूरा वैवद दिनो दिन बढ़ता जा रहा है।

आपको बता दें कि कपिल सिब्बल ने अपने बयान में कांग्रेस नेतृत्व पर सवाल उठाते हुए कहा था कि पार्टी ने हार को अपनी नियति मान ली है। बदलाव जरूरी है और आत्मविश्लेषण करना चाहिए।


सिब्बल के इस बयान पर जहां राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पलटवार किया वहीं बाद में तारिक अनवर ने भी अशोक गहलोत का साथ देते हुए सिब्बल पर निशाना साधा। अब सिब्बल के विरोध में कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी भी उतर आए हैं।

चौधरी ने सिब्बल पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर सिब्बल को लगता है कि कांग्रेस पार्टी सही नही है तो वह या तो नई पार्टी बना लें या किसी अन्य दल में शामिल हो जाएं। वह आजाद हैं।


अधीर रंजन ने आगे बोलते हुए कहा कि सिब्बल एक वरिष्ठ कांग्रेस नेता हैं और उनकी पार्टी के बड़े नेताओं तक पहुंच है। उन्हें इस तरह से से सार्वजनिक टिप्पणी नही करनी चाहिए थी। साथ ही उन्होंने कहा कि अगर कपिल सिब्बल बिहार या एमपी के चुनावों में गए होते तो वह साबित कर सकते थे कि उनका कहना ठीक है लेकिन बिना कुछ किये बोलना ठीक नही है। आपको बता दें कि अधीर रंजन चौधरी से पहले अशोक गहलोत भी सिब्बल के खिलाफ ऐसे ही बयान दे चुके हैं।