बांग्ला फिल्मों के मशहूर अभिनेता और दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित सौमित्र चटर्जी का आज कोलकाता के एक अस्पताल में निधन हो गया। वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे। कल उनका इलाज कर रहे डॉक्टरों की टीम ने भी उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी देते हुए कहा था कि उनकी स्थिति काफी गंभीर है।

कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद सौमित्र चटर्जी को 6 अक्टूबर को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इलाज के बाद वो कोरोना निगेटिव हो गए थे लेकिन बाद में उनका स्वास्थ्य बिगड़ने लगा और कई स्वास्थ्य संबंधी जटिलताएं आ गई थीं। इसके बाद लगातार 40 दिनों तक उनका इलाज चलता रहा लेकिन उन्हें बचाया नही जा सका।

मशहूर बंगाली अभिनेता सौमित्र चटर्जी के निधन पर पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने दुःख व्यक्त करते हुए कहा,’अंतर्राष्ट्रीय, भारतीय और बंगाली सिनेमा ने आज एक प्रसिद्ध अभिनेता खोया है। बंगाल के लिए यह दुखद दिन है। पूरे सम्मान और बंदूक की सलामी के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।’

पीएम नरेंद्र मोदी ने भी सौमित्र चटर्जी के निधन पर दुःख व्यक्त करते हुए लिखा- सौमित्र चटर्जी का निधन विश्व सिनेमा के साथ-साथ पश्चिम बंगाल और पूरे देश के सांस्कृतिक जीवन के लिए बहुत बड़ी क्षति है। उनके निधन से अत्यंत दुख हुआ है। परिजनों और प्रशंसकों के लिए मेरी संवेदनाएं। ओम शांति!