मुंबई इंडियंस ने आईपीएल के फाइनल में दिल्ली कैपिटल्स को हराकर रिकॉर्ड पांचवी बार खिताब अपने नाम कर लिया है. फाइनल में मुंबई ने दिल्ली को 5 विकेट से हराया. पहले बल्लेबाज़ी करते हुए दिल्ली की टीम ने मुंबई को 157 रनों का लक्ष्य दिया जिसे मुंबई की टीम ने 8 बॉल पहले ही हासिल कर लिया.

वहीँ दूसरी तरफ दिल्ली का आईपीएल ख़िताब जीतने का सपना टूट गया. यह पहला आईपीएल इतिहास का पहला मौका था जब दिल्ली की टीम टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची हो. पहले प्लेऑफ में भी मुंबई की टीम ने दिल्ली को हराकर फाइनल में जगह बनाई थी.

आईपीएल के इतिहास में यह दूसरा मौका है जब कोई टीम लगातार दो बार चैंपियन बनी हो. इससे पहले 2010 और 2011 में चेन्नई सुपरकिंग्स ने यह कारनामा किया था.  वहीँ मुंबई इंडियंस ने पहली बार यह खिताब रनो का पीछा करते हुए जीता है. इससे पहले मुंबई 2013, 2015, 2017, और 2109 में आईपीएल के खिताब पर कब्ज़ा कर चुकी है.

मुंबई ऐसी पहली टीम बन गई है जिसने यह ख़िताब 5 बार अपने नाम किया है. दूसरे नंबर पर चेन्नई की टीम है जिसने आईपीएल का खिताब 3 बार जीता है.

दिल्ली की तरफ से कप्तान सुरेश अय्यर ने 65 और ऋषभ पंत ने 50 रनों की पारी खेली और टीम को शुरुआती झटकों से उबरते हुए 156 रनों तक पहुंचाया. मुम्बई की तरफ से बोल्ट ने सबसे ज्यादा 3 विकेट झटके।

मुंबई की तरफ से कप्तान रोहित शर्मा ने कप्तानी पारी खेली और अपनी टीम को जीत दिलाई. रोहित ने शानदार 68 रनों की पारी खेली और ईशान किशन ने ताबड़तोड़ 33 रन बनाये. दिल्ली की तरफ से नोर्त्जे ने 2 विकेट चटके.

IPL 2020: आखिर मुंबई के खिलाफ हाथ पर काली पट्टी बांधकर क्यों उतरे दिल्ली के खिलाड़ी, जानिए वजह

IPL 2020: प्लेऑफ का दूसरा एलिमिनेटर आज हैदराबाद और बेंगलुरु के बीच, जीतने वाली का होगा दिल्ली से मुकाबला