भारत सरकार ने सात नवंबर, 2011 को एक आदेश जारी कर वन रैंक वन, पेंशन योजना लागू करने का ऐतिहासिक फैसला लिया था। योजना की वजह से पड़ने वाले भारी वित्तीय बोझ के बावजूद सरकार ने योजना लागू की जो पूर्व सैन्यकर्मियों के कल्याण को लेकर उसकी प्रतिबद्धता को दिखाता है।

इस योजना के दायरे में 30 जून, 2014 तक सेवानिवृत्त हुए सैन्य बल कर्मी आते हैं। रक्षा पेंशन की विशालता और जटिलता को ध्यान में रखते हुए, ओआरओपी के कार्यान्वयन पर सरकारी आदेश जारी करने से पहले विशेषज्ञों और पूर्व सैन्यकर्मियों के साथ व्यापक विचार-विमर्श किया गया था।

पूर्व सैन्यकर्मी करीब 45 वर्षों से ओआरओपी के कार्यान्वयन की मांग के लिए आंदोलन करते आ रहे थे लेकिन 2015 से पहले इसे कभी लागू नहीं किया गया।

ओआरओपी का मतलब है कि सेवानिवृत्त होने की तारीख से इतर समान सेवा अवधि और समान रैंक पर सेवानिवृत्त हो रहे सशस्त्र सैन्य कर्मियों को एक समान पेंशन दिया जाएगा। इस तरह से ओआरओपी का मतलब आवधिक अंतरालों पर वर्तमान और पिछले सेवानिवृत्त सैन्यकर्मियों की पेंशन की दर के बीच के अंतर को पाटना है।

ओआरओपी लागू करने के साथ 20,60,220 रक्षा बल पेंशन भोगियों/रक्षा बल परिवार पेंशन भोगियों में 10,795.4 करोड़ रुपए की बकाया राशि वितरित की गयी। ओआरओपी के कारण हर साल करीब 7123.38 करोड़ रुपए का खर्च आता है और एक जुलाई, 2014 से करीब छह साल तक 42,740.28 करोड़ खर्च किए गए।

ओआरओपी लाभार्थियों को 2.57 के मल्टीप्लिकेशन फैक्टर से पेंशन की गणना करते समय सातवीं सीपीसी के तहत पेंशन के निर्धारण का लाभ भी मिला।

ओआरओपी की बकाया राशि के तौर पर 11 अक्टूबर, 2019 तक जारी कि गयी रकम का राज्यवार आंकड़ा कुछ इस तरह है।

क्रमसंख्याराज्य/केंद्रशासित क्षेत्रओआरओपी लाभार्थियों की संख्याओआरओपी की बकाया राशि के तौर पर जारी की गयी रकम (करोड़ रुपए में)
1अण्डमान और निकोबार3802.25
2आंध्रप्रदेश47,191259.64
3अरुणाचल प्रदेश2,24510.42
4असम35,246164.14
5बिहार73,757350.96
6चंडीगढ़7,08858.69
7छत्तीसगढ़4,28925.64
8दादरा नागर हवेली80.13
9दमन और दीव160.08
10दिल्ली46,626445.11
11गोवा9887.87
12गुजरात17,79788.79
13हरियाणा1,84,126909.28
14हिमाचल प्रदेश94,709412.48
15जम्मू और कश्मीर62,160293.4
16झारखंड12,91562.81
17कर्नाटक60,566380.76
18केरल1,37,418726.41
19लक्षद्वीप400.26
20मध्य प्रदेश37,118196.2
21महाराष्ट्र1,30,158775.47
22मणिपुर4,01615.64
23मेघालय1,9919.71
24मिजोरम1,6237.12
25नागालैंड1,1766.5
26ओडिशा28,667137.15
27पांडिचेरी1,4638.64
28पंजाब2,11,9151095.44
29राजस्थान1,10,675511.62
30सिक्किम7893.63
31तमिलनाडु1,16,627628.77
32तेलंगाना17,811112
33त्रिपुरा1,5017.66
34उत्तर प्रदेश2,28,3261038.23
35उत्तराखंड1,16,553530.57
36पश्चिम बंगाल79,194391.3
 कुल18,67,3299,638.05
  • राज्यवार भुगतान के इस आंकड़े में नेपाली पेंशन भोगियों का ब्यौरा शामिल नहीं है।